Tue. Feb 7th, 2023
अहमदाबाद देश का सबसे किफायती हाउसिंग मार्केट, जानिए देश में कहां लोगों पर घर खरीदने का बोझ है कम

अहमदाबाद देश का सबसे किफायती हाउसिंग मार्केट

आंकड़ों के अनुसार 2022 की पहली छमाही में मुंबई देश का सबसे महंगा आवासीय बाजार था, वहीं इस दौरान हैदराबाद देश का दूसरा सबसे महंगा, जबकि दिल्ली-एनसीआर तीसरा सबसे महंगा बाजार था

अहमदाबाद देश के शीर्ष आठ शहरों में सबसे किफायती हाउसिंग (Housing) मार्केट है. संपत्ति सलाहकार नाइट फ्रैंक इंडिया की रिपोर्ट में यह बात कही गई. रिपोर्ट के मुताबिक 2022 की पहली छमाही के दौरान देश में आय के मुकाबले ईएमआई अनुपात के लिहाज से घर खरीदने की क्षमता में गिरावट देखने को मिली है. दरअसल इस दौरान दरों में बढ़ोतरी से ईएमआई का बोझ बढ़ा है जिससे लोगों की खरीद क्षमता पर असर दिखा है. नाइट फ्रैंक इंडिया ने शुक्रवार को 2022 की पहली छमाही (जनवरी-जून) के लिए अपनी वहनीयता सूचकांक रिपोर्ट (Affordability Index report) जारी की. यह सूचकांक वास्तव में व्यक्तियों की मकान या अन्य चीजें खरीदने की क्षमता को बताता है. यह रिपोर्ट एक औसत परिवार के लिए आय के मुकाबले ईएमआई (समान मासिक किस्त) अनुपात पर नजर रखती है. रिपोर्ट के मुताबिक आरबीआई (RBI) के रेपो दर में 0.90 प्रतिशत की बढ़ोतरी से घर खरीदने की क्षमता प्रभावित हुई है, क्योंकि इसके चलते बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों ने आवास ऋण महंगा कर दिया.

जानिए किस शहर में सबसे किफायती है आवासीय बाजार

संपत्ति सलाहकार ने एक बयान में कहा कि अहमदाबाद शीर्ष आठ शहरों में सबसे किफायती आवास बाजार है, जिसमें आय-ईएमआई अनुपात 22 प्रतिशत है. इसके बाद 26 प्रतिशत के साथ पुणे और चेन्नई का स्थान है. नाइट फ्रैंक के वहनीयता सूचकांक में 2010 से 2021 तक आठ प्रमुख शहरों में लगातार सुधार देखा गया. खासतौर से महामारी के दौरान जब आरबीआई ने रेपो दर में कटौती की तो लोगों के लिए घर खरीदना और किफायती हो गया था. हालांकि, दो बार में रेपो दर में 0.90 प्रतिशत की बढ़ोतरी के चलते इन शहरों में घर खरीदने की क्षमता में औसतन दो प्रतिशत की कमी हुई. नाइट फ्रैंक इंडिया के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक शिशिर बैजल ने कहा कि पिछले कुछ महीनों में घर खरीदना कठिन हुआ है. उन्होंने कहा, प्रमुख बाजारों में वहनीयता औसतन 2-3 प्रतिशत घटी है. वहीं ईएमआई का लोड औसतन 6.97 हालांकि, दरों में बढ़ोतरी के बावजूद, बाजार काफी हद तक किफायती हैं.

ये भी पढ़ें



कहां है संपत्ति खरीदना सबसे महंगा

आंकड़ों के अनुसार 2022 की पहली छमाही में मुंबई देश का सबसे महंगा आवासीय बाजार था, और इसका वहनीयता सूचकांक 53 प्रतिशत से बढ़कर 56 प्रतिशत हो गई है. हैदराबाद देश का दूसरा सबसे महंगा आवासीय बाजार है शहर के लिए इंडेक्स 29 प्रतिशत से बढ़कर 31 प्रतिशत पर पहुंच गया है. वहीं लिस्ट में तीसरे स्थान पर दिल्ली-एनसीआर है. इंडेक्स 28 प्रतिशत से बढ़कर 30 प्रतिशत पर पहुंच गया है. वहीं बैंग्लुरू के लिए इंडेक्स 26 से बढ़कर 28 पर और हैदराबाद का इंडेक्स 25 से बढ़कर 27 पर पहुंच गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *