Tue. Feb 7th, 2023
उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव में चुनाव हार के बाद कांग्रेस में जारी है घमासान, हरीश रावत बोले-मेरे सिर पर क्यों फोड़ा जा रहा है हार का ठीकरा

हरीश रावत, कांग्रेस नेता, उत्तराखंड (फाइल फोटो)

Image Credit source: वीडियो ग्रैब

पूर्व सीएम हरीश रावत (Harish Rawat) ने इसके जरिए राज्य के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह पर परोक्ष निशाना साधा. रावत ने कहा कि वह इस मामले को पार्टी के मंच पर उठाने के लिए उत्सुक हूं.

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव (Uttarakhand assembly elections) में कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा है और उसके बाद पार्टी में नेताओं के बीच घमासान देखने को मिल रही है. उत्तराखंड में ज्यादातर नेता हार के लिए राज्य के पूर्व सीएम और कांग्रेस (Congress) नेता हरीश रावत (Harish Rawat) को ही जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. वहीं अब हरीश रावत ने कहा कि चुनाव में हार के लिए आखिर उन्हें ही क्यों जिम्मेदार ठहराया जा रहा है. क्योंकि राज्य में चुनाव सामूहिक नेतृत्व में लड़े गए थे. असल में राज्य में चुनाव में चुनाव सामूहिक नेतृत्व में लड़े गए थे. लेकिन चुनाव में प्रत्याशियों के चयन में हरीश रावत की बड़ी भूमिका रही. जिसके बाद वह अपने विरोधियों के निशाने पर हैं.

हालांकि अभी तक राज्य में कांग्रेस हार की समीक्षा नहीं कर सकी है और राज्य के ज्यादातर नेता हार के लिए हरीश रावत को ही जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. वहीं अब रावत ने कहा कि मैं जहां भी सांसद था, वहां कांग्रेस ने कड़ी टक्कर दी और कांग्रेस के जिन उम्मीदवारों के नाम मेरे साथ जुड़े हैं. उन्होंने बीजेपी को चुनाव में टक्कर दी. क्या यही राज्य में स्थिति है. असल में पूर्व सीएम हरीश रावत ने इसके जरिए राज्य के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह पर परोक्ष निशाना साधा. रावत ने कहा कि वह इस मामले को पार्टी के मंच पर उठाने के लिए उत्सुक हूं. दरअसल प्रीतम कैंप अक्सर आरोप लगाता है कि रावत की कार्यशैली के कारण चुनाव में पार्टी को हार का सामना करना पड़ा है.

विपक्षियों पर साधा निशाना

रावत ने कहा कि आज सोशल मीडिया में मेरे दोस्तों को लगता है कि अगर हरीश रावत नहीं होते तो उन्हें पता नहीं होते तो अच्छा होता. पता नहीं उन्हें दुनिया कौन सी दौलत मिल जाती. उन्होंने कहा कि आजकल उनका विरोध करने वाले शादी में जब जाते हैं तो वहां भी यही कहते हैं कि हरीश रावत ने पार्टी को हरा दिया है. नहीं तो राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने जा रही थी. उन्होंने कहा कि उन लोगों से पूछा जाना चाहिए कि उन्होंने चुनाव में कितने प्रत्याशियों को जीत दिलाई.

ये भी पढ़ें



यूरिया पर हरीश और सहकारिता विभाग आमने-सामने

हरिद्वार और यूएस नगर में खाद की किल्लत से पूर्व सीएम हरीश रावत और सहकारिता विभाग आमने-सामने आ गए. रावत ने गुरुवार को खाद की किल्लत को लेकर सहकारिता विभाग को कटघरे में खड़ा किया. उन्होंने कहा कि अगर खाद की समस्या खत्म नहीं होगी तो वह विभागीय मंत्री आवास के बाहर अनशन करेंगे. उन्होंने कहा कि रावत ने सोशल मीडिया पर उर्वरकों की कमी पर पोस्ट किया और कहा कि किसानों को यूरिया नहीं मिल रहा है और राज्य से यूरिया की तस्करी की जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *