Tue. Feb 7th, 2023
कराटे खिलाड़ियों से पहले खेल अधिकारी ने की अश्लील हरकत, फिर दी जान से मारने की धमकी; 6 महीने बाद पाक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज

Image Credit source: अजय बाथम

इटावा में दो नाबालिक कराटे खिलाड़ियों ने जिला खेल अधिकारी के खिलाफ पाक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज कराया है. आरोप है कि 6 महीने पहले स्टेडियम के जिम हाल में खेल अधिकारी ने उसकी 15 साल की साथी और उसके साथ अश्लील हरकत की. बाल संरक्षण आयोग के आदेश पर मुकदमा दर्ज हुआ है.

उत्तर प्रदेश के इटावा (Etawah) में एक शिक्षक ही भक्षक बन गया. बताया जा रहा है कि दो नाबालिक कराटे खिलाड़ियों ने जिला खेल अधिकारी के खिलाफ पाक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज कराया है. दोनों पीड़ित कराटे खिलाड़ियों का आरोप है कि 6 महीने पहले स्टेडियम के जिम हाल में खेल अधिकारी ने उसकी 15 साल की साथी और उसके साथ अश्लील हरकत की. आरोप यह भी है कि क्रीड़ाधिकारी ने उसके प्राइवेट पार्ट स्पर्श किए. मामले में कार्रवाई न होने पर पीड़िता ने बाल संरक्षण आयोग से शिकायत की थी, जिसके बाद मुकदमा सिविल लाइन थाने में दर्ज किया गया है. एसएसपी जय प्रकाश सिंह ने बताया कि आयोग के आदेश पर मुकदमा दर्ज किए जाने के बाद घटना की जांच उनके द्वारा की जा रही है.

दरअसल, दोनों पीड़ित खिलाड़ियों की की उम्र करीब 14 साल और 15 साल है. पीड़िता के मुताबिक, वे दोनों स्पोर्ट्स स्टेडियम में कराटे प्रशिक्षण के लिए जाती हैं. जिला खेल अधिकारी नरेश चंद्र यादव 16 दिसंबर 2021 को सुबह करीब 8 बजे स्टेडियम के जिम हाल में आए और उन दोनों के साथ अश्लील हरकत की. विरोध करने पर उन दोनों को लालच दिया गया. 11 जनवरी 2022 को खेल अधिकारी की शिकायत प्रार्थना पत्र देकर एसएसपी से की गई. इस पर खेल अधिकारी ने उन दोनों को परेशान करना शुरू कर दिया. उन पर शिकायत वापस लेने का दबाव बनाया. इसके साथ-साथ जान से मारने की धमकी भी दी. इसके बाद पीड़िता ने 16 जनवरी 2022 को बाल संरक्षण आयोग लखनऊ से शिकायत की. जिसके बाद आयोग के आदेश पर पास्को एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज हुआ है.

खेल अधिकारी स्टेडियम कार्यालय छोड़कर गायब

इस संबंध में टीवी 9 की टीम ने जिला खेल अधिकारी से संपर्क करने की कोशिश की तो, वह मेडिकल की छुट्टी लेकर अपने कार्यालय से बाहर चले गए हैं. इस पर उनका किसी प्रकार का कोई बयान सामने नहीं आया है. बिना किसी को जानकारी देकर वह स्टेडियम कार्यालय छोड़कर चले गए.

क्या कहते हैं SSP?

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जय प्रकाश सिंह ने बताया कि जिला खेल अधिकारी नरेश चंद्र यादव के खिलाफ बाल संरक्षण आयोग की तरफ से निर्देश आया था कि इनके खिलाफ अभियोग पंजीकृत करवाया जाए, उसी के तहत 28 जून को सिविल लाइन थाने में मामला पंजीकृत कराया गया है. इस पर विवेचना की जाएगी, जो भी तथ्य आएंगे उस पर कार्रवाई की जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *