Tue. Feb 7th, 2023
केला की खेती करने वाले किसानों को सरकार दे रही सब्सिडी, बंपर पैदावार से चमक रही किस्मत

केले की खेती करने वाले किसानों को सरकार की तरफ से सब्सिडी भी मिल रही है.

Image Credit source: TV9

केले की खेती का रकबा बढ़ने के पीछे की वजह बताते हुए जिला उद्यान अधिकारी सुरेश कुमार का कहना है कि सरकार से मिलने वाली सब्सिडी किसानों को इस फसल की तरफ प्रोत्साहित कर रही है. वहीं उन्नत वैज्ञानिक खेती के जरिए किसानों को काफी फायदा हो रहा है.

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हरदोई जिले के किसान इस समय केला की खेती से जबरदस्त मुनाफा कमा रहे हैं. यहां पर किसानों (Farmers) को बंपर पैदावार मिल रही है, जिससे उनकी कमाई में इजाफा हो रहा है. इसी को देखकर पारंपरिक खेती करने वाले किसान भी केला लगा रहे हैं. जिले में पहले कुछ-एक किसान ही केला की खेती (Banana Farming) से जुड़े हुए थे, लेकिन आज यह संख्या हजारों में पहुंच गई है. हरदोई के किसान अब इस फसल की व्यावसायिक खेती कर रहे हैं. सरकार से मिलने वाला अनुदान किसानों के लिए काफी मददगार साबित हो रहा है.

हरदोई में केले की खेती का रकबा बढ़ने के पीछे की वजह बताते हुए जिला उद्यान अधिकारी सुरेश कुमार का कहना है कि सरकार से मिलने वाली सब्सिडी किसानों को इस फसल की तरफ प्रोत्साहित कर रही है. वहीं उन्नत वैज्ञानिक खेती के जरिए किसानों को काफी फायदा हो रहा है. जिला उद्यान अधिकारी के सहायक हरिओम ने बताया कि जिले की जलवायु केले के खेती के लिए उपयुक्त है. इसी के चलते किसान केले की फसल से बेहतरीन पैदावार ले रहे हैं और बाजार में अच्छी कीमत में बेच रहे हैं.

सब्सिडी से मिल रही किसानों को मदद

उन्होंने बताया कि किसान अवधेश मिश्र पहले धान और गेहूं जैसी फसलों की पारंपरिक खेती करते थे. लेकिन अब उन्होंने पूरी तरह से केले की खेती को अपना व्यवसाय बना लिया है. मलिहामाऊ के किसान श्याम जी मिश्र ने बताया कि केले का बाग हरा भरा होने के साथ ही शुभ भी है. इसकी खेती से वह अपने जीवन की अर्थव्यवस्था को बदल चुके हैं. उनकी केले की फसल अब खेत से ही बिक रही है. उन्होंने बताया कि पहले वर्ष उन्हें 30,000 रुपए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से अनुदान मिला था और फिर दूसरे वर्ष 40,000 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से अनुदान मिला. केले की खेती में सफलता से उन्हें शोहरत भी मिली है. श्याम जी मिश्र को मुख्यमंत्री के सम्मानित कर चुके हैं.

ये भी पढ़ें



एक अन्य किसान राम भरोसे ने बताया कि वह सुबह होते ही अपने खेतों में पहुंच जाते हैं और कम मेहनत में ज्यादा मुनाफा देने वाली फसल के बीच रहकर वह काफी आनंदित महसूस करते हैं. भरावन निवासी केले के किसान आत्माराम ने बताया कि प्रति एकड़ केले की खेती में लगभग 70 हजार की लागत आती है. लगभग 1 साल में तैयार होने वाली फसल से एक किसान 2 लाख रुपए तक की कमाई करता है. उनका कहना है कि पारंपरिक फसलों की खेती के मुकाबले कई गुना अधिक कमाई हो रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *