Tue. Feb 7th, 2023
क्या है रियाज का मुंबई आतंकी हमले से संबंध? उदयपुर हत्याकांड के आरोपी की बाइक का नंबर है 2611, इसके लिए उसने अलग से दिए थे 5 हजार रुपए

रियाज ने बाइक का नंबर 2611 करवाने के लिए अलग से पैसे दिए थे.

रियाज की गाड़ी का नंबर RJ 27 AS 2611 है. रियाज और मोहम्मद गौस कन्हैया लाल को बेरहमी से मारने के बाद इसी बाइक से फरार हुए थे. ये बाइक अब उदयपुर के धान मंडी थाने में खड़ी हुई है.

उदयपुर हत्याकांड (Udaipur Murder Case) को अंजाम देने वालों के तार पाकिस्तान से जुड़े होने की बात सामने आने के चंद दिनों बाद ही पुलिस ने एक और बड़ा खुलासा किया है. पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक हत्यारों में से एक रियाज अख्तारी ने अपनी मोटरसाइकिल के स्पेशल नंबर के लिए 5 हजार रुपए अतिरिक्त दिए थे. उसकी बाइक का नंबर था 2611, उसने इस नंबर के लिए अलग से पैसे दिए थे. पुलिस इस नंबर को मुंबई में हुए 26/11 के आतंकी हमले से जोड़कर देख रही है. मुंबई में 26/11 यानी 26 नवंबर 2008 के दिन देश का सबसे बड़ा आतंकी हमला हुआ था.

उदयपुर धान मंडी थाने में खड़ी है बाइक

रियाज की गाड़ी का नंबर “RJ 27 AS 2611” है. रियाज और मोहम्मद गौस, कन्हैया लाल को बेरहमी से मारने के बाद इसी बाइक से फरार हुए थे और ये बाइक अब उदयपुर के धान मंडी थाने में खड़ी हुई है. मीडिया रिपोर्ट्स में पुलिस से जुड़े सूत्रों ने बताया है कि रियाज ने जानबूझकर 2611 नंबर के लिए 5 हजार रुपए अलग से दिए थे, ताकि उसे ये नंबर प्लेट मिल सके. उनका कहना है कि ये संकेत हाल ही में उदयपुर में हुई घटना और अपराधियों के मंसूबों को समझने के लिए काफी अहम है.

कई खुलासे करेगा रियाज की गाड़ी का नंबर

पुलिस का मानना है कि ये नंबर प्लेट साल 2014 से पहले रियाज की मनोस्थिति क्या थी, उसे समझने में भी मदद कर सकती है. इससे पहले पुलिस बता चुकी है कि रियाज के पासपोर्ट से पता चला है कि वो 2014 में नेपाल जा चुका है. उसके मोबाइल डेटा से पता चला है कि वो पाकिस्तान में अक्सर किसी से बात किया करता था. अब रियाज की गाड़ी का नंबर भी कई खुलासे कर सकता है.

2013 में रियाज ने खरीदी थी बाइक

मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि RTO के रिकॉर्ड्स के मुताबिक रियाज अख्तारी ने ये बाइक साल 2013 में खरीदी थी, जिसके लिए उसने HDFC बैंक से लोन भी लिया था. इस बाइक का बीमा 2014 में ही खत्म हो चुका था.कन्हैया लाल की हत्या करने के बाद ये दोनों आरोपी इसी बाइक से भाग रहे थे, जब इन्हें उदयपुर से 45 किलोमीटर दूर राजसमंद जिले में पुलिसकर्मियों ने दबोच लिया था.

ये भी पढ़ें



दुकान में घुसकर दर्जी को उतार दिया मौत के घाट

कन्हैयालाल की हत्या के दोनों आरोपियों रियाज और गौस मोहम्मद को गुरुवार को 13 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया. आरोपियों को उदयपुर जिला सत्र न्यायालय के सामने पेश किया गया था. जिसके बाद उन्हें न्यायिक हिरासत में भेजा गया. बता दें कि उदयपुर के भूत महल इलाके में एक दर्जी को उसकी दुकान के भीतर दिनदहाड़े मौत के घाट उतार दिया गया था. बताया जा रहा है कि दर्जी के 8 साल के बेटे ने सोशल मीडिया पर नूपुर शर्मा के समर्थन में स्टेटस लगा दिया था. इस वजह से समुदाय विशेष का एक पक्ष काफी नाराज था. इसी दौरान दो युवक दर्जी की दुकान में कपड़े का माप देने के लिए पहुंचे और मौका मिलते ही उस पर चाकुओं से हमला कर दिया. इस घटना में दर्जी की मौके पर ही मौत हो गई. दोनों आरोपियों ने एक वीडियो जारी कर हत्या की जिम्मेदारी ली है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *