Sat. Jul 2nd, 2022

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Chinese President Xi Jinping) एक गंभीर मस्तिष्क रोग ‘सेरेब्रल एन्यूरिज्म’ (Cerebral aneurysm) से ग्रस्त हैंखबरों के अनुसार, फिलहाल जिनपिंग इस बीमारी का इलाज पारंपरिक चीनी दवाओं से करा रहे हैं हालांकि, डॉक्टर्स ने उन्हें सर्जरी कराने की सलाह दी थी असल में यह बीमारी तेज सिर दर्द के साथ शुरू होती है और पीड़ित के लिए सामान्य जीवन जीना भी मुश्किल कर देती है। आइए जानते हैं इस बीमारी के बारे में सब कुछ।

बताया जा रहा है कि शी जिनपिंग पिछले साल भी इस समस्या के कारण हॉस्पिटल में भर्ती हुए थे जिनपिंग की तबियत कई महीनों से खराब चल रही है। और इसका एकमात्र इलाज सर्जरी बताया जाता है। सेरिब्रल एन्यूरिज्म या ब्रेन एन्यूरिज्म (Brain Aneurysm) के बारे में विस्तार से जानने के लिए हमने मॉलदीव्स के एडीके हॉस्पिटल में न्यूरोसर्जन किरण निरुला से बात की। 

सेरिब्रल एन्यूरिज्म क्या है

डॉ किरण निरुला के अनुसार, सेरिब्रल एन्यूरिज्म को ब्रेन एन्यूरिज्म (Brain Aneurysm) भी कहा जाता है यह एक गंभीर मेडिकल कंडीशन है, जिसका इलाज समय पर कराना जरूरी होता है सेरिब्रल एन्यूरिज्म होने पर ब्लड वेसल में बबल्स बनने लगते हैं और कई बार यह बबल्स फट जाते हैं। 

is beemaari me dhundhala dikhaayi dene lagta hai इस बीमारी में धुंधला दिखाई देने लगता है

हालांकि ऐसे में होने वाली ब्लीडिंग की मात्रा बहुत कम होती है। पर ब्रेन में होने वाली यह ब्लीडिंग जानलेवा भी हो सकती हैसाथ ही इससे ब्रेन स्ट्रोक या हेमोरेजिक स्ट्रोक के अलावा लकवा भी हो सकता है। 

डॉक्टर किरण इस बारे में बात करते हुए आगे बताती हैं कि इस बीमारी में ⅓ मामले में जहां मौत हो सकती है, वहीं बाकी रोगियों के शरीर के अलग-अलग हिस्से में कई परेशानियां हो सकती हैं कई बार यह बीमारी पूरी तरह अपाहिज बना देती है ऐसे में इसका तत्काल इलाज बेहद जरूरी हो जाता है सेरिब्रल एन्यूरिज्म मस्तिष्क में कहीं भी हो सकता है, लेकिन आमतौर पर यह मस्तिष्क में मौजूद धमनियों में होता है

ब्रेन में एन्यूरिज्म के शरीर में लक्षण

व्यक्ति को अचानक से गंभीर सिरदर्द हो सकता है यह रप्चर्ड ब्रेन एन्यूरिज्म का मुख्य लक्षण है यह सिरदर्द बेहद तेज होता है गंभीर सिरदर्द के अलावा, रप्चर्ड एन्यूरिज्म के सामान्य लक्षण इस प्रकार हैं:

जी मिचलाना, उल्टी होना
स्टिफ या अकड़ी हुई  गर्दन

धुंधला दिकाई देना 

रोशनी के प्रति संवेदनशीलता 

दौरे पड़ना 

कोई काम करते करते हुए अचानक लॉस्ट या खोया हुआ महसूस करना 

भ्रम होना 

लीकिंग/रप्चर्ड एन्यूरिज्म

कुछ मामलों में, एन्यूरिज्म या धमनी में ब्लड बबल्स के फूटने से थोड़ी मात्रा में खून का रिसाव हो सकता है यह रिसाव अचानक होने वाले या फिर गंभीर सिरदर्द का कारण बन सकता है

Brain se judi hai yah beemari ब्रेन से जुड़ी है यह बीमारी। चित्र:शटरस्टॉक

क्या है अनरप्चर्ड एन्यूरिज्म

अनरप्चर्ड (टूटा या क्षतिग्रस्त ना हुए) एन्यूरिज्म में कई बार कोई लक्षण नजर नहीं आता है, खासकर अगर यह छोटा है हालांकि, एक बड़े अनरप्चर्ड एन्यूरिज्म मस्तिष्क में मौजूद बल्ड वेसल और नर्व्स पर असर डालते हैं जिसके कारण ये लक्षण नजर आ सकते हैं-

-एक आंख के ऊपर और गर्दन के पीछे दर्द होना

-आई बॉल का फैलना या स्ट्रेच होना

-चेहरे के एक तरफ सुन्न होना

सेरिब्रल या रप्चर्ड एन्यूरिज्म के कारण

सेरिब्रल एन्यूरिज्म किन कारणों से होता है, इसके बारे में अभी सही से पता नहीं चल सका है, लेकिन कई कारक इसके जोखिम को बढ़ा सकते है रिस्क फैक्टर्स कई हैं, जो आर्टरी वॉल को कमजोर बना देते हैं, जिससे सेरिब्रल एन्यूरिज्म के होने का खतरा बढ़ जाता है बच्चों की तुलना में यह वयस्कों को अधिक होता है साथ ही पुरुषों की तुलना में महिलाओं में यह अधिक कॉमन है सेरिब्रल एन्यूरिज्म के जोखिम कारक इस प्रकार हैं-

-बढ़ती उम्र

-धूम्रपान का सेवन

-हाई ब्लड प्रेशर

-ड्रग एब्यूज, खासकर कोकेन का सेवन

-बहुत अधिक मात्रा में एल्कोहल लेना

डॉक्टर के पास कब जाएं

यदि आपको बहुत अचानक तेज सिरदर्द हो, तो डॉक्टर से तुरंत मिलें। यदि व्यक्ति अपना होश खो देता है या उसे दौरे पड़ते हैं, तो पीड़ित व्यक्ति को तुरंत स्थानीय हॉस्पिटल में लेकर जाएं

ध्यान रहे

एनसीबीआई के एक सर्वेक्षण के अनुसार हर साल इस बीमारी के रोगियों में इजाफा होता है और हर साल, दस हज़ार में से एक व्यक्ति इस बीमारी के नए रोगी के तौर पर जुड़ता हैजिससे यह पता चलता है कि इस आम बीमारी के रोगियों की संख्या बहुत ज़्यादा है

 बीमारी के विषय में आई तमाम ख़बरों के बीच एक खबर यह भी थी कि चीनी राष्ट्रपति चीनी पद्धति से अपना इलाज करा रहे हैं इस बारे में बात करते हुए डॉक्टर किरण कहते हैं कि बीमारी का सही इलाज है आर्टरी या ब्रेन सर्जरी। जिसमें क्लिपिंग के तरीके से ब्रेन में होने वाली ब्लीडिंग को रोका जाता है इस तरह सर्जरी की इजाज़त सिर्फ एलोपैथी चिकित्सा पद्धति ही देती है, ऐसे में चीनी राष्ट्रपति का इस तरह से इलाज करना या करवाना जानलेवा भी हो सकता है। इस तरह की चीज़ों से हमें बचना चाहिए।

तबियत खराब होने पर अपने आप दवा ले लेना, इंटरनेट से दवा या इलाज पढ़ के अपना इलाज करने लगना जैसी चीज़ें आपके लिए भी जान का जोखिम बन सकती हैं। वह कहते हैं न नीम हकीम खतरा-ए- जान”। तो नीम हकीमी से बची और सही समय पर सही इलाज चुनिए। सही डॉक्टर की सलाह से इलाज कराइए और सेहतमंद रहिए 

Leave a Reply

Your email address will not be published.