Tue. Feb 7th, 2023
ताजपोशी के एक घंटे बाद ही शिंदे कैबिनेट की पहली बैठक, 2-3 जुलाई को विधानसभा का विशेष सत्र; जानिए दिनभर के सियासी उठापटक में क्या क्या हुआ

एकनाथ शिंदे बरे महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री

शिवसेना के नेता एकनाथ शिंदे ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली, जबकि भाजपा के देवेंद्र फडणवीस ने उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शाम साढ़े सात बजे के बाद दक्षिण मुंबई स्थित राजभवन में उन्हें पद की शपथ दिलाई.

महाराष्ट्र की राजनीति में आज का दिन बड़ा गेम चेंजर साबित हुआ. बुधवार देर शाम जिस तरह से उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया तो कहानी साफ हो गई कि महाराष्ट्र में एक बार फिर बीजेपी, शिवसेना के एकनाथ शिंदे गुट के साथ मिलकर सरकार का गठन करेगी. घड़ी की सूई के साथ ही महाराष्ट्र की राजनीति में भी उलफेट होने शुरू हो गए. आज सुबह से ही इस बात को लेकर चर्चा जोरों पर थी कि महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis), एकनाथ शिंदे (Eknath shinde) के साथ मिलकर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के सामने महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन की पेशकश करेंगे. जैसे कयास लगाए गए वैसा ही होता गया. दोपहर में देवेंद्र फडणवीस, एकनाथ शिंदे के साथ मिल महाराष्ट्र में सरकार बनाने का दावा पेश करने राजभवन पहुंच गए. हर किसी को उम्मीद थी कि देवेंद्र फडणवीस तीसरी बार महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. लेकिन उनके मास्टर स्ट्रोक ने महाराष्ट्र की राजनीति को पलटकर रख दिया.

देवेंद्र फडणवीस ने जब घोषणा की कि शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री होंगे, तो कई लोग इस राजनीतिक पैंतरेबाजी को देख दंग रह गए क्योंकि उन्हें उम्मीद थी कि 51 वर्षीय भाजपा नेता तीसरी बार मुख्यमंत्री की कुर्सी पर काबिज होंगे. हर किसी को उम्मीद थी कि शिंदे के नेतृत्व वाले समूह के समर्थन से फडणवीस फिर से मुख्यमंत्री बनेंगे. फडणवीस को भाजपा के शीर्ष नेताओं से अपना विचार बदलने और नई सरकार में शामिल होने के लिए कई तरह के संदेश मिले. लेकिन फडणवीस को मुख्यमंत्री के रूप में सरकार में शामिल नहीं होना था, जैसा कि कई लोगों को उम्मीद थी. फडणवीस ने कहा था कि वह सरकार को बाहर से मदद करेंगे लेकिन शीर्ष नेतृत्व के कहने पर उन्होंने डिप्टी सीएम का पद लेने के लिए हामी भर दी.

इस पूरे घटना क्रम के कुछ देर बाद ही शिवसेना के नेता एकनाथ शिंदे ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली, जबकि भाजपा के देवेंद्र फडणवीस ने उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शाम साढ़े सात बजे के बाद दक्षिण मुंबई स्थित राजभवन में उन्हें पद की शपथ दिलाई. शिंदे ने इस दौरान दिवंगत शिवसेना नेताओं-बाल ठाकरे और आनंद दिघे को श्रद्धांजलि दी. उनकी शपथ पूरी होते ही उनके समर्थकों ने ठाकरे और दिघे की प्रशंसा में नारे लगाए. शिंदे ने समारोह के बाद कहा, राज्य का विकास मेरी प्राथमिकता है. मैं समाज के सभी वर्गों को साथ लेकर चलूंगा.

एकनाथ शिंदे ने कहा- हमारा लक्ष्य महाराष्ट्र का विकास करना है

शपथ ग्रहण के बाद महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने देर शाम मंत्रालय में कैबिनेट की पहली बैठक ली कैबिनेट की पहली बैठक में ही उन्होंने खरीफ की फसल और फसल बीमा को लेकर चर्चा की. उन्होंने कहा कि पिछली सरकार के समय से कई फैसले लंबित हैं. हमारी सरकार सभी लंबित योजनाओं को जल्द पूरा करेगी. हमारा लक्ष्य महाराष्ट्र का विकास करना है. शिंदे ने कहा कि महाराष्ट्र के लिए आज का दिन गेम चेंजर साबित होगा. किसान और मजदूरों के साथ पूरी तरह से न्याय किया जाएगा.

आरे में ही बनाया जाएगा मेट्रो कार शेड: देवेंद्र फडवीस

महाराष्ट्र सरकार की पहली बैठक में डिप्टी सीएम देवेंद्र फडवीस ने आरे में मेट्रो कार शेड बनाने का निर्देश जारी किया. उन्होंने राज्य के महाधिवक्ता को निर्देश दिया कि इस संबंध में कोर्ट के सामने सरकार का पक्ष रखें. इसके साथ ही डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि जलयुक्त शिवर योजना को फिर से शुरू करने का प्रस्ताव जल्द ही लाया जाएगा.

ये भी पढ़ें



शनिवार और रविवार को बुलाया गया विधानसभा का विशेष सत्र

महाराष्ट्र में शनिवार को विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया गया है. इसी दिन एकनाथ शिंदे को बहुमत साबित करना होगा. इसके साथ ही इसी दिन नए स्पीकर का भी चुनाव किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *