Mon. Jan 30th, 2023
दिल्ली पुलिस ने स्वीकार की मोहम्मद जुबैर की जमानत याचिका पर गलत जानकारी देने की बात

ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर (फाइल फोटो).

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ऑल्ट न्यूज के पत्रकार मोहम्मद जुबैर को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है. कोर्ट ने जुबैर की जमानत याचिका भी खारिज की है.

ऑल्ट न्यूज के पत्रकार मोहम्मद जुबैर (Journalist Mohammed Zubair) को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे जाने वाली खबर पर दिल्ली पुलिस की सफाई सामने आई है. दिल्ली पुलिस के सीनियर अधिकारी केपीएस मल्होत्रा ने मीडिया को गलत जानकारी शेयर करने की बात स्वीकर की है. उन्होंने बताया था कि कोर्ट ने ज़ुबैर की ज़मानत याचिका खारिज कर उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है. अब जुबैर के वकील सौतिक बनर्जी ने कहा कि अब तक कोई आदेश नहीं सुनाया गया है.

इससे पहले पुलिस अधिकारी ने जानकारी शेयर करते हुए कहा था कि कोर्ट ने ज़ुबैर की ज़मानत याचिका खारिज कर दी. साथ ही मोहम्मद जुबैर को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है (Mohammed Zubair Judicial Custody). दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने दिल्ली पुलिस की तरफ से 14 दिन की न्यायिक हिरासत की मांग और जुबैर की तरफ से दायर जमानत याचिका पर फैसला सुनाया है. लेकिन अब पुलिस अधिकारी ने गलत जानकारी शेयर करने की बात स्वीकर कर ली है.

सरकारी वकील ने सुनवाई के दौरान कोर्ट को बताया था कि कंपनी ने FCRA के सेक्शन 35 का उल्लघंन कर पाकिस्तान समेत कई देशों से फंड लिया था, उसकी जांच के लिए दिल्ली पुलिस फिर से ज़ुबैर की कस्टडी की जरूरत पड़ सकती है. इसके अलावा दिल्ली पुलिस ने 2018 में धार्मिक भावनाओं को भड़काने से संबंधित ट्विट करने के आरोपों की जांच के साथ-साथ ज़ुबैर के खिलाफ सबूत नष्ट करने, आपराधिक साजिश रचने और बिना मंजूरी विदेशी फंड हासिल करने की धाराओं को भी शामिल किया था.

विदेशों से जुटाया गया फंड: दिल्ली पुलिस

दिल्ली पुलिस ने शनिवार को कहा कि ऑल्ट न्यूज को संचालित करने वाली कंपनी प्रावदा मीडिया को विभिन्न लेनदेन के जरिये दो लाख रुपये से अधिक की राशि ऐेसे माध्यमों से मिली, जिनका या तो मोबाइल फोन नंबर या आईपी पता अन्य देशों का था. पुलिस द्वारा जारी एक बयान में बताया गया कि रेजरपे भुगतान माध्यम से प्राप्त एक जवाब के विश्लेषण से पता चला कि ऐसे कई लेन-देन हुए, जिनमें या तो मोबाइल फोन नंबर भारत के बाहर का था या आईपी पता बैंकॉक, ऑस्ट्रेलिया, मनामा, नॉर्थ हॉलैंड, सिंगापुर, विक्टोरिया, न्यूयॉर्क, इंग्लैंड, रियाद क्षेत्र, शारजाह, स्टॉकहोम, अबू धाबी, वाशिंगटन, कंसास, न्यू जर्सी, ओंटारियो, कैलिफोर्निया, टेक्सास, लोअर सैक्सोनी, बर्न, दुबई और स्कॉटलैंड समेत बाहरी शहरों और विदेशों का था. बयान के मुताबिक, इन लेन-देन से प्रावदा मीडिया को कुल 2,31,933 रुपए मिले.

जुबैर ने पुलिस रिमांड की वैधता को दी है चुनौती

इससे पहले दिल्ली उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को मोहम्मद जुबैर की उस याचिका पर दिल्ली पुलिस का रुख पूछा, जिसमें उन्होंने 2018 में एक हिंदू देवता पर किये गये एक कथित आपत्तिजनक ट्वीट से संबंधित एक मामले में उनकी पुलिस रिमांड की वैधता को चुनौती दी है. न्यायमूर्ति संजीव नरूला ने याचिका पर नोटिस जारी किया और जांच एजेंसी को उस याचिका पर अपना जवाब दाखिल करने के लिए दो सप्ताह का समय दिया, जिसमें निचली अदालत के 28 जून के उस आदेश को चुनौती दी गई है. निचली अदालत ने जुबैर को चार दिन की पुलिस हिरासत में देने का आदेश दिया था. न्यायाधीश ने मामले को आगे की सुनवाई के लिए 27 जुलाई को सूचीबद्ध किया और कहा कि निचली अदालत के समक्ष कार्यवाही वर्तमान कार्यवाही से प्रभावित हुए बिना जारी रहेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *