Tue. Feb 7th, 2023
नूपुर शर्मा को लेकर कोर्ट रूम के अंदर क्या-क्या हुआ? 10 प्वाइंट्स में अंदर की Full Story

नूपुर शर्मा (फाइल फोटो)

सर्वोच्च न्यायालय ने नूपुर शर्मा के वकील की उस दलील को भी खारिज कर दिया, जिसमें उन्होंने कहा था कि नूपुर शर्मा ने अपना बयान वापस ले लिया है.

TV9 Hindi

| Edited By: अमित कुमार

Jul 01, 2022 | 12:51 PM




सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी नेता नूपुर शर्मा को कड़ी फटकार लगाई है. शीर्ष अदालत ने दो टूक कहा है कि आपकी ‘बदजुबानी’ की वजह से देश में मौजूदा हालात बिगड़े हैं. नूपुर शर्मा ने कई राज्यों में दर्ज एफआईआर को लेकर सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था. नूपुर ने मांग की थी कि सभी मामलों को दिल्ली ट्रांसफर किया जाए. सुप्रीम कोर्ट ने कड़ी फटकार लगाते हुए उन्हें याचिका वापस लेने को कहा. साथ ही कहा कि देश में आज जो भी हालात हैं उसके लिए उनका बयान ही जिम्मेदार है.

सर्वोच्च न्यायालय ने नूपुर शर्मा के वकील की उस दलील को भी खारिज कर दिया, जिसमें उन्होंने कहा था कि नूपुर शर्मा ने अपना बयान वापस ले लिया है. अदालत ने कहा कि उन्हें टीवी पर आकर पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए. आइए जानते हैं सुप्रीम कोर्ट ने पूरे मुद्दे पर क्या क्या कहा…

  1. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि नूपुर शर्मा ने ‘बदजुबानी’ की है. उन्होंने अपने बयान से देश भर में भावनाएं भड़काई हैं. आज देशभर में जो हो रहा है, उसके लिए यह महिला अकेले ही जिम्मेदार है.
  2. मामले की सुनवाई कर रहे जस्टिस सूर्यकांत ने फटकार लगाते हुए कहा कि यह महिला लगातार गैर-जिम्मेदाराना बयान देती रहती हैं और दावा करती हैं कि 10 साल से वकालत कर रही हैं. उन्हें पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए.
  3. अब नूपुर शर्मा राहत के लिए सुप्रीम कोर्ट आई हैं? अदालत ने पूछा, ‘उन्हें धमकियां मिल रही हैं या उनकी वजह से देश के लिए खतरा पैदा हो गया है.?’
  4. नूपुर शर्मा की माफी के मुद्दे पर दो सदस्यीय पीठ ने कहा कि पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी करने के बाद उस बयान को वापस लेने में अब बहुत देर हो चुकी है.
  5. जस्टिस सूर्यकांत ने कहा कि जब आपने किसी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई तो संबंधित शख्स को गिरफ्तार कर लिया गया. लेकिन किसी में इतनी हिम्मत नहीं कि कोई आपको छू सके. यह आपकी ताकत को दिखाता है.
  6. कोर्ट ने कहा कि नूपुर शर्मा ने लोगों को भड़काने वाले बयान दिए. इसी वजह से देश में माहौल खराब हुआ.
  7. फटकार लगाते हुए अदालत ने कहा कि जो मामला कोर्ट में विचाराधीन है, उस पर टीवी चैनल पर बहस करने के पीछे क्या बिजनेस है? आप अपना एजेंडा प्रमोट करना चाहते थे?
  8. अगर आप पार्टी की प्रवक्ता हैं तो आपको कुछ भी कहने का लाइसेंस नहीं मिल जाता. अदालत आपसे संतुष्ट नहीं है और आपको कोई और हल ढूंढना होगा.
  9. कोर्ट ने कहा कि उन्हें टीवी पर आकर पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए। इसके साथ ही कोर्ट ने नूपुर के खिलाफ दर्ज सभी मामलों को दिल्ली ट्रांसफर करने से इंकार कर दिया.
  10. कोर्ट ने कहा कि उन्होंने अपने बयान से देश की सुरक्षा के लिए खतरा पैदा किया और इस से ही देश भर में अशांति फैल गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *