Wed. Feb 8th, 2023
नूपुर शर्मा: जिनके सिर्फ एक बयान से पूरी दुनिया में हुआ बवाल... जानिए- उनके बारे में और भी बहुत कुछ

नूपुर शर्मा के खिलाफ दिल्ली, कोलकाता, बिहार से लेकर पुणे तक कई मामले दर्ज हैं.

Nupur Sharma Speech Issue: नूपुर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाई है और कोर्ट ने उन्हें माफी मांगने के लिए कहा है. तो जानिए कोर्ट ने क्या कहा और नूपुर शर्मा से जुड़ी कई खास बातें, जो बहुत कम लोग जानते होंगे…

भारतीय जनता पार्टी से निलंबित नेता नुपुर शर्मा के भाषण (Nupur Sharma Comment Controversy) को लेकर विवाद अभी तक जारी है. उदयपुर में हुई हत्या का भी नुपूर शर्मा के बयान से ही कनेक्शन है. अब एक बार फिर नूपुर शर्मा का नाम चर्चा में आ गया, जब सुप्रीम कोर्ट ने नूपुर शर्मा को फटकार लगाई. कोर्ट ने पैगंबर मोहम्मद पर विवादित बयान देने के लिए नुपुर शर्मा (Nupur Sharma) को फटकार लगाई है और उन्हें कोर्ट ने देश से माफी मांगने को कहा है. कोर्ट ने कहा कि उन्होंने अपने बयान से देश की सुरक्षा के लिए खतरा पैदा किया और इस से ही देश भर में अशांति फैल गई.

कोर्ट की फटकार के बाद एक बार फिर नूपुर शर्मा का नाम चर्चा में है. ऐसे में आज हम आपको बता दें कि नूपुर शर्मा की ओर से किस वजह से याचिका दर्ज की गई थी और अब कोर्ट ने नुपूर शर्मा को ही फटकार लगाई है. तो हम आपको बताते हैं कि कोर्ट ने क्या कहा है और नूपुर शर्मा के बयान के अलावा उनसे जुड़ी खास बातें, जो आप शायद ही जानते होंगे…

क्या है कोर्ट से जुड़ा अपडेट?

दरअसल, नूपुर शर्मा के खिलाफ दिल्ली, कोलकाता, बिहार से लेकर पुणे तक कई मामले दर्ज हैं. नूपुर ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर मांग की थी कि उनके खिलाफ अलग-अलग राज्यों में जितने भी केस दर्ज हैं, उन सभी को दिल्ली ट्रांसफर कर दिया जाए. कोर्ट ने नूपुर के खिलाफ दर्ज सभी मामलों को दिल्ली ट्रांसफर करने से इंकार कर दिया. साथ ही कोर्ट ने कहा है कि उन्हें टीवी पर आकर पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए. कोर्ट का कहना है कि उन्होंने इस पर शर्तों के साथ माफी मांगी, वह भी तब जबकि उनके बयान पर लोगों का गुस्सा भड़क उठा था, माफी मांगने के लिए अब बहुत देर हो चुकी है.

क्यों चर्चा में रही हैं नूपुर शर्मा?

वैसे तो नूपुर शर्मा अक्सर खबरों में रहती थीं और टीवी चैनलों की डिबेट में अक्सर दिखाई देती थीं. हालांकि, हाल ही नूपुर शर्मा ने एक टीवी चैनल की डिबेट के दौरान पैगंबर मोहम्मद को लेकर विवादित बयान दिया था. जिसके बाद बवाल शुरू हो गया. देशभर में उनके खिलाफ कई प्रदर्शन हुए और बीजेपी ने भी उन्हें निष्कासित कर दिया. देशभर में उनके खिलाफ मामले दर्ज हुए और विवाद सिर्फ भारत में ही नहीं दुनिया के अन्य देशों तक पहुंचा. कई खाड़ी देशों ने इस बयान को लेकर आपत्ति दर्ज की. वहीं, हाल ही में उदयपुर में हुई हत्या की घटना में भी नुपूर शर्मा के बयान का कनेक्शन मिला.

कौन हैं नूपुर शर्मा?

नूपुर शर्मा भारतीय जनता पार्टी की प्रवक्ता थीं, लेकिन विवादित बयान के बाद उन्हें निलंबित कर दिया गया. वह बीजेपी दिल्ली की प्रदेश कार्यकारिणी समिति की भी सदस्य थीं. नूपुर शर्मा का नाम पहली बार 2015 दिल्ली विधानसभा चुनाव में चर्चा में आया था, जब उन्होंने नई दिल्ली सीट से चुनाव लड़ा था. यह सीट इसलिए खास थी, क्योंकि इस सीट से आम आदमी पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल और दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं शीली दीक्षित चुनाव लड़ रही थीं. उस दौरान उन्हें जीत तो नहीं मिली, लेकिन उन्होंने अपने मुखर अंदाज से उन्होंने लोगों को प्रभावित जरूर किया.

वकील भी हैं नूपुर शर्मा

नूपुर शर्मा पेशे से वकील भी हैं. उन्होंने लंदन स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स से पढ़ाई की है. इसके अलावा बर्लिन से भी उन्होंने पढ़ाई की है. टीवी चैनलों में बेबाक अंदाज में बात करने वाली नूपुर शर्मा छात्र जीवन से ही राजनीति में मुखर रही हैं. दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ की अध्यक्ष भी रह चुकी हैं. 2008 में वह एवीबीपी की ओर से छात्र संघ चुनाव जीतने वाली एकमात्र उम्मीदवार थीं. छात्र राजनीति से 2010 में नुपुर निकलने के बाद वह भाजयुमो यानी भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा में सक्रिय हुईं. तब भी उन्हें राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी का जिम्मा सौंपा गया था. 2015 दिल्ली विधानसभा चुनाव में केजरीवाल से हारने के बावजूद वह राष्ट्रीय स्तर पर लाइमलाइट में आ गई थीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *