Wed. Feb 8th, 2023
नूपुर शर्मा पर SC की टिप्पणी का मुस्लिम उलेमाओं ने किया स्वागत, जमीयत के जहीन मदनी बोले-विवादित बयान की वजह से देश में ये हालात

नूपुर शर्मा पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी का मुस्लिम उलेमाओं ने स्वागत किया है.

Image Credit source: टीवी9

जमीयत प्रदेश सचिव जहीन मदनी ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) से मांग करते हुए कहा कि नूपुर शर्मा के खिलाफ कानून के मुताबिक सख्त से सख्त कार्रवाई हो. उन्होंने सरकार से मांग करते हुए कहा कि नूपुर शर्मा का बयान माफी के काबिल नहीं है.

पैगंबर मोहम्मद की गई टिप्पणी को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) से सख्त लहजे में कहा है कि वह देश से माफी मांगें. कोर्ट ने कहा है कि नूपुर शर्मा ने पैगंबर पर टिप्पणी टीवी डिबेट में की थी इसीलिए वह माफी भी टीवी के सामने ही मांगें. मुस्लिम उलेमाओं ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की इस टिप्पणी का स्वागत किया है. सहारनपुर के जमीयत प्रदेश सचिव जहीन मदनी ने कहा है कि “सुप्रीम कोर्ट ने जो फटकार लगाई है, वो एकदम सही है. उन्होंने कहा कि विवादित बयानों की वजह से देश में ये हालात पैदा हुए हैं”. जहीन मदनी ने कहा कि उनको सुप्रीम कोर्ट पर पहले से ही विश्वास है.

माननीय सुप्रीम कोर्ट ने नूपुर शर्मा को जो फटकार लगाई है, वह बिल्कुल ठीक लगाई है.वह मांग करते हैं कि इस मामले पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए, जिससे देश के माहौल को बिगड़ने से बचाया जा सके. नूपुर शर्मा के विवादित बयान की वजह से इस तरह के हालात पैदा हुए हैं. जमीयत प्रदेश सचिव जहीन मदनी ने सुप्रीम कोर्ट से मांग करते हुए कहा कि नूपुर शर्मा के खिलाफ कानून के मुताबिक सख्त से सख्त कार्रवाई हो. उन्होंने सरकार से मांग करते हुए कहा कि नूपुर शर्मा का बयान माफी के काबिल नहीं है. इसीलिए उस पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए.

मुस्लिम उलेमाओं ने किया SC की टिप्पणी का स्वागत

मुस्लिम संगठनों का कहना है कि नूपर को सख्त से सख्त सजा मिले, जिससे भविष्य में कोई भी इस तरह की टिप्पणी कर देश का माहौल खराब न करे. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जमात-ए-इस्लामी हिंद के उपाध्यक्ष मोहम्मद सलीम इंजीनियर ने भी कोर्ट की टिप्पणी पर खुशी जताई है. उन्होंने कहा कि वह इसका स्वागत करते हैं. इस टिप्पणी से एक उम्मीद जगी है. उन्होंने कहा कि नूपुर देश से माफी मांगे, लेकिन इससे उनका अपराध कम नहीं हो जाता. उन्हें कानूनी रूप से सजा भी मिलनी चाहिए. सलीम इंजीनियर ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने भी इस बात को माना है कि नूपुर के बयान से देश का माहौल खराब हुआ है. उन्होंने कहा कि नूपुर को गिरफ्तार ना करना समाज में एक गलत संदेश है.

‘नूपुर माफी मांगें तो मस्लिमों को माफ करना चाहिए’

दिल्ली की फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम मुफ्ती मुकर्रम अहमत ने कहा कि नूपुर को पहले ही माफी मांगनी चाहिए थी. अगर उन्होंने ऐसा किया होता तो देश का माहौल खराब न होता. उन्होंने कहा कि SC के आदेश के बाद भी अगर वह माफी मांगती हैं तो भी अच्छा होगा. शिया समुदाय के मौलाना मोहसिन तकवी ने कहा कि अगर नूपुर माफी मांगती हैं, तो मुस्लिमों को उनको माफ करना चाहिए. उन्होंने कहा कि इस्लाम में माफ करने का जज्बा रहा है.

ये भी पढ़ें



नूपुर शर्मा की बदजुबानी की वजह से देश में लगी आग-SC

सप्रीम कोर्ट ने मामले पर सख्त लहजे में कहा कि FIR के बावजूद कार्रवाई क्यों नहीं की गई. नूपुर शर्मा को टीवी पर आकर माफी मांगनी चाहिए. साथ ही सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि अगर अगर एंकर ने भड़काया तो केस क्यों नहीं हुआ. कोर्ट ने कहा कि नूपुर शर्मा की ऐसी बदजुबानी की वजह से देश में आग लगी. वह खुद को वकील कहती हैं तो ऐसे बयान कैसे दे दिए. बता दें कि पैगंबर मोहम्मद पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद सुप्रीम कोर्ट ने BJP से निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा को फटकार लगाई है. कोर्ट ने यहां तक कह दिया कि उदयपुर की घटना के लिए नूपुर शर्मा की बयानबाजी जिम्मेदार है. इसके साथ ही SC ने दिल्ली पुलिस को भी फटकार लगाई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *