Mon. Jan 30th, 2023
फांसी का फंदा कैसे लगाते हैं, कितना होता है दर्द और कितनी देर में हो जाती है मौत? सवालों का जवाब ढूंढते हुए 14 साल के बच्चे ने की आत्महत्या

बेटे की मौत से परिवार में कोहराम मचा है.

हमीरपुर जिला मुख्यालय के रमेड़ी मोहल्ले में एक 14 साल के नाबालिग बच्चे ने फंदे से लटकर जान दे दी. बच्चे के माता-पिता दिल्ली में नौकरी करते हैं, बच्चा अपनी दादी के साथ रहता था.

फंदा कैसे बनाते हैं, फांसी लगाने में कितना दर्द होता है और फांसी लगाने के कितने देर बाद मौत हो जाती है. यह सब सर्च किया गया था, जिसके बाद एक नाबालिग लड़के ने घर को सूना पाकर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली (Minor Boy Suicide). एकलौते पुत्र की मौत से घर मे कोहराम मचा हुआ है. वहीं अब पुलिस नाबालिग छात्र द्वारा फांसी लगाने के कारणों की जांच में जुट गई है. मामला हमीरपुर (Hamirpur) जिला मुख्यालय रमेड़ी मोहल्ले का है. जहां आज 14 वर्षीय संकल्प तिवारी नामक बच्चे ने अज्ञात कारणों के चलते फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली, मृतक छात्र संकल्प अपनी दादी के साथ रहता था और छात्र के माता-पिता दिल्ली में प्राइवेट जॉब करते थे. घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस (Hamirpur Police) जांच में जुटी है.

छात्र ने सरदार पटेल हायर सेकेंड्री स्कूल में 9वीं में एडमिशन लिया हुआ था. छात्र दो दिन पूर्व ही दिल्ली से वापस लौटा था और जब उसकी दादी राशन का सामान लेने दुकान गयी उतनी ही देर में उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. दादी के जाने के बाद घर में अकेले छात्र संकल्प ने मोबाइल फोन से गूगल में सर्च किया की फांसी का फंदा कैसे बनाते है, फंदा लगाने के बाद कितना दर्द होता है और फंदा लगाने के बाद कितनी देर में आदमी की मौत हो जाती है.

बाजार से लौटी दादी पोते को फंदे से लटका देख हुई बेहोश

इसके बाद उसने घर की टीन में लगे लोहे के एंगल से रस्सी के सहारे फंदा तैयार किया और कुर्सी रखकर उसमें लटक गया, जिसके बाद उसकी मौत हो गयी. जब उसकी दादी वापस घर आई तो उन्होंने दरवाजा खटखटाया लेकिन कोई जवाब नहीं मिला. जिसके बाद उन्होंने पड़ोसी की छत से अंदर देखा तो छात्र फांसी में झूल रहा था जिसको देखते ही दादी बेहोश हो गयी. स्थानीय लोगों की सूचना पर मौके में पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतार कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

पुलिस के लिए पहेली बना मामला, जांच तेज

मृतक छात्र महज 14 वर्ष का है. दिल्ली में अपने मां बाप के पास से वापस आने के बाद उसने फांसी लगाकर कर आत्महत्या कर ली. वो भी इंटरनेट के द्वारा फांसी लगाने के तरीके सिख कर यह घटना पुलिस के लिए पहेली बनी हुई है. हमीरपुर कोतवाली प्रभारी दुर्गविजय की माने तो पुलिस छात्र के मोबाइल का पूरा डाटा खंगाल रही है. छात्र के आत्महत्या करने के कारण अभी स्पष्ट नहीं है लेकिन जल्द ही इससे पर्दा उठ जाएगा. पूरे मामले की पुलिस गंभीरता से जांच कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *