Wed. Feb 8th, 2023
बढ़ने वाला है आपका हॉस्पिटल बिल! रूम चार्ज पर 5 फीसदी का GST लगाने की हो रही है तैयारी

5000 रुपए से ज्यादा रूम रेंट पर जीएसटी लगाने की तैयारी.

Image Credit source: ani

जीएसटी काउंसिल में हॉस्पिटल रूम चार्ज पर 5 फीसदी जीएसटी लगाने का विचार किया जा रहा है. इस बैठक में कुछ प्रोडक्ट और सर्विस पर चार्ज में बढ़ोतरी की गई है जिसे 18 जुलाई से लागू किया जा रहा है.

हाल ही में जीएसटी काउंसिल (GST Council) की अहम बैठक हुई. इस बैठक में कुछ ऐसे फैसले लिए गए हैं जिससे आपका हॉस्पिटल बिल बढ़ जाएगा. अगर किसी हॉस्पिटल का रूम चार्ज 5000 रुपए से ज्यादा होगा तो उसपर 5 फीसदी का जीएसटी (GST on Hospital rooms) लगाया जा सकता है. काउंसिल की बैठक के बाद 18 जुलाई से कई प्रोडक्ट और सर्विस पर जीएसटी की दरें बढ़ने जा रही हैं. फिलहाल हॉस्पिटल रूम पर जीएसटी को लेकर आखिरी फैसला नहीं लिया गया है. वैसे इसमें ICU यानी इंटेंसिव केयर यूनिट को अलग रखा गया है. अभी तक हेल्थकेयर सेक्टर को जीएसटी के दायरे से बाहर रखा गया था. इसके कारण रूम चार्ज पर किसी भी तरह का जीएसटी नहीं लगता था. इस बैठक में हेल्थकेयर सर्विसेज को भी जीएसटी के दायरे में लाने पर विचार किया गया है.

फिलहाल 5 फीसदी का जीएसटी लगाने का आखिरी ऐलान नहीं किया गया है. हॉस्पिटल इंडस्ट्री के लोगों का कहना है कि इससे मरीजों का बिल बढ़ जाएगा और उन्हें परेशानी होगी. कोरोना महामारी में हॉस्पिटल का खर्च पहले ही ज्यादा हो चुका है. बेड चार्ज से लेकर इक्विपमेंट्स चार्जेज, सबकुछ महंगा हो गया है. ऐसे में रूम चार्ज पर 5 फीसदी का जीएसटी लागू करने से मरीजों का बिल और बढ़ेगा.

2015 में लगता था लग्जरी टैक्स

प्राइवेट हॉस्पिटल का तो ये हाल है कि अगर डॉक्टर सेफ्टी किट पहन कर मरीज का जांच करता है या उससे मिलता है तो इसका शुल्क भी बिल में जोड़ दिया जाता है. बता दें कि जीएसटी के अस्तित्व में आने से पहले साल 2015 में हॉस्पिटल पर लग्जरी टैक्स लगाया जाता था. विरोध के बाद इसे वापस ले लिया गया. एकबार फिर से 5 फीसदी का जीएसटी लगाने एक तरह से लग्जरी टैक्स की वापसी जैसा है.

लग्जरी टैक्स की वापसी हो रही है

बेंगलुरू मिरर में छपी रिपोर्ट में Aster RV Hospital के जनरल मैनेजर एस नागेंद्र ने कहा कि 5 फीसदी का जीएसटी लगाना लग्जरी टैक्स की वापसी जैसा ही है. इसका नुकसान मरीजों को उठाना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि ज्यादातर हॉस्पिटल्स इस चार्ज को मरीजों को पास कर देंगे. वे इस स्थिति में नहीं है कि इस चार्ज का बोझ उठा सकें.

ये भी पढ़ें



ज्यादातर रूम के लिए चार्ज 5000 रुपए से ज्यादा

आसरा ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल के चेयरमैन जगदीश हीरेमठ ने कहा कि हम जो इक्विपमेंट्स खरीदते हैं उसमें जीएसटी शामिल होता है. इसके बावजूद हमें इनपुट टैक्स क्रेडिट का लाभ नहीं मिलता है. बता दें कि ज्यादातर प्राइवेट हॉस्पिटल्स के लिए रूम चार्ज 5000 रुपए से ज्यादा ही होते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *