Tue. Feb 7th, 2023
बढ़ने वाला है आपके ऑफिस आने-जाने का खर्च! दिल्ली में महंगा होने जा रहा ऑटो और टैक्सी का किराया

ऑटो के लिए मीटर डाउन चार्ज 30 रुपए.

Image Credit source: PTI

दिल्ली में टैक्सी और ऑटो का किराया महंगा होने जा रहा है. सीएनजी की कीमत में बेतहाशा तेजी के कारण फेयर को बढ़ाने का विचार किया गया है. आखिरी बार बेस फेयर में 2013 में बदलाव किया गया था.

बहुत जल्द आपका टैक्सी और ऑटो किराया (Taxi and Auto base fare) बढ़ने वाला है. कोरोना महामारी के बाद लोग अब ऑफिस जाना शुरू कर दिए हैं. ऐसे में अगर आप टैक्सी या ऑटो से सफर करते हैं तो अब डेस्टिनेशन पहुंचने के लिए ज्यादा पैसे खर्च करने होंगे. दिल्ली में टैक्सी के लिए बेस फेयर (Base fare for Taxi) 15 रुपए महंगा होने जा रहा है. वहीं, ऑटो के लिए प्रति लीटर किराया 1.5 रुपए महंगा हो जाएगा. बहुत जल्द दिल्ली में नया रेट लागू होने की तैयारी है. रेट में बढ़ोतरी को लेकर फिलहाल शुरुआती मंजूरी मिल चुकी है. अब केजरीवाल सरकार की कैबिनेट बैठक में चर्चा होने के बाद इसे ऐलान कर दिया जाएगा.

दिल्ली में टैक्सी का टैरिफ आखिरी बार साल 2013 में बदला गया था. बेस फेयर में 15 रुपए की बढ़ोतरी में सीएनजी की कीमत में बेतहाशा वृद्धि के साथ-साथ पिछले नौ सालों में व्हीकल रिप्लेसमेंट कॉस्टिंग को भी ध्यान में रखा गया है. दिल्ली के ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर कैलाश गहलोत ने बेस फेयर में वृद्धि को लेकर जानकारी दी है. जानकारी के मुताबिक, सीएनजी की कीमत में तेजी के कारण बेस फेयर को बढ़ाना अत्यंत जरूरी हो गया था. अप्रैल में किराए में बदलाव को लेकर 13 सदस्यों की कमिटी का गठन किया गया था. इसी कमिटी ने किराए में बढ़ोतरी का सुझाव दिया है. बेस फेयर में 60 फीसदी तक की बढ़ोतरी का सुझाव दिया गया था.

बेस फेयर में 60 फीसदी की बढ़ोतरी का प्रस्ताव

इस कमिटी ने मई के महीने में अपना सुझाव दिया और कहा कि बेस फेयर में 60 फीसदी तक की बढ़ोतरी की जाए. वहीं, ऑटो के लिए प्रति लीटर किराया में 1 रुपए की बढ़ोतरी का विचार दिया गया था. रिपोर्ट के मुताबिक, ऑटो के लिए मीटर डाउन चार्ज अब 25 रुपए से बढ़ाकर 30 रुपए करने का सुझाव दिया गया है. उसके बाद प्रति किलोमीटर चार्ज 9.50 रुपए की जगह 11 रुपए हो जाएगा.

टैक्सी के लिए मीटर डाउन चार्ज 40 रुपए

टैक्सी के लिए मीटर डाउन चार्ज को 25 रुपए से बढ़ाकर 40 रुपए कर दिया गया है. उसके बाद नॉन-एसी टैक्सी के लिए प्रति किलोमीटर चार्ज 14 रुपए से बढ़ाकर 17 रुपए कर दिया गया है. एसी टैक्सी के लिए यह किराया 16 रुपए से बढ़ाकर 20 रुपए प्रति किलोमीटर कर दिया गया है. ऐप आधारित कैब सर्विस पहले ही अपना किराया बढ़ा चुके हैं. हालांकि, सरकार रेग्युलेटेड कैब और ऑटो की तरफ से अभी तक किराए में बढ़ोतरी नहीं की गई थी.

ये भी पढ़ें



लगभग 50 फीसदी बढ़ा सीएनजी की कीमत

राजधानी दिल्ली में 1 जनवरी को सीएनजी गैस की कीमत 52.04 रुपए थी जो अब बढ़कर 75.61 रुपए हो गई है. कीमत में इस तरह की अग्रेसिव बढ़ोतरी के बाद टैक्सी और ऑटो संचालकों के लिए किराए में बढ़ोतरी बेहद जरूरी हो गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *