Mon. Jan 30th, 2023
मणिपुर भूस्खलनः अब तक 14 शव बरामद, सेना के जवान और रेल कर्मियों समेत 60 लोगों के दबे होने की आशंका, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

मणिपुर में भूस्खलन से अब तक 14 लोगों की मौत

Image Credit source: PTI

Manipur Landslide: मणिपुर के नोनी में भूस्खलन के कारण अब तक 14 लोगों की मौत हो गई है. जबकि 60 के करीब लोगों के अब भी मलबे में दबे होने की आशंका है. एनडीआरएफ की टीम बचाव अभियान चला रही है.

मणिपुर के नोनी में भारी बारिश और भूस्खलन (Landslide in Manipur) की वजह से अभी तक 14 लोगों की मौत हो गई है. भूस्खलन गुरुवार सुबह आया था, जिसके बाद से बचाव अभियान (Manipur Rescue Operation) चल रहा है. नोनी के डीजीपी पी डौंगेल ने कहा, मलबे से 23 लोगों को निकाला गया है, जिनमें से 14 लोगों की मृत्यु हो गई है. कितने लोग दबे हुए हैं, इसकी पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन अभी तक ग्रामीणों, सेना और रेलवे कर्मियों, मजदूरों सहित 60 लोगों के दबे होने की आशंका है. एनडीआरएफ बचाव कार्य कर रहा है. उसने एक दिन पहले गुरुवार को कहा था कि वह अपनी दो टीमों को भेज रहा है.

एनडीआरएफ ने बताया कि यह हादसा तुपुल यार्ड रेलवे निर्माण शिविर में बुधवार की रात हुआ है. अधिकारियों ने बताया कि नोनी जिले के एक रेलवे निर्माण स्थल पर भूस्खलन हुआ है. उन्होंने शाम छह बजकर 55 मिनट तक की जानकारी साझा करते हुए बताया, कई लोगों के अब भी मलबे में दबे होने की आशंका हैं और उन्हें बचाने का अभियान जारी है. प्रवक्ता ने बताया कि एनडीआरएफ की एक टीम तत्काल इंफाल के आधार शिविर से घटना स्थल पर पहुंची जबकि दो और टीम (एक नगालैंड के कोहिमा से और दूसरी असम के सिलचर से) घटना स्थल पर भेजी गई हैं और रास्ते में हैं.

भारी अर्थमूवर का हो रहा इस्तेमाल

बल ने एक खोजी कुत्ते को भी बचाव कार्य में लगाया है. यह खोजी कुत्ता गीली मिट्टी को खोदकर संभावित जिंदा लोगों की तलाश कर रहा है. स्थानीय प्रशासन और अन्य बचाव एजेंसियां भारी अर्थमूवर (मिट्टी हटाने की मशीन) का इस्तेमाल कर रही हैं ताकि बचाव कार्य में तेजी लाई जा सके. भूस्खलन के बाद भारी मलबा शिविर पर गिरा और ईजेई नदी का रास्ता बंद हो गया. इससे वहां जलाशय बन गया है और निचले इलाकों में बाढ़ आने का खतरा उत्पन्न हो गया है. इस घटना को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत कई लोगों ने दुख जताया है.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भूस्खलन में सशस्त्र बलों के जवानों सहित आम लोगों की मौत पर गहरा दुख प्रकट किया और लापता लोगों की सुरक्षा की प्रार्थना की. राष्ट्रपति भवन ने कोविंद के हवाले से ट्वीट किया, मणिपुर के नोनी में भूस्खलन में सशस्त्र बलों के जवानों सहित आम लोगों की मौत बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है. पीड़ित परिवारों को मेरी ओर से शोक संवेदनाएं. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मणिपुर में भूस्खलन की घटना में कई लोगों की मौत पर दुख जताया और कहा कि यह बहुत परेशान करने वाली दुर्घटना है. राहुल गांधी ने ट्वीट किया, मणिपुर में भूस्खलन की खबर बहुत परेशान करने वाली है. पीड़ित परिवारों के प्रति मेरी गहरी संवेदना है. घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं.

ये भी पढ़ें



कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी इस हादसे पर दुख जताया और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है. वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भीषण भूस्खलन में लोगों की मौत पर शोक व्यक्त किया और कहा कि यह घटना बेहद दुखद है. केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘मणिपुर के नोनी जिले में भूस्खलन की खबर बेहद दुखद है. इस दुखद हादसे में अपने प्रियजनों को खोने वाले परिवारों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदनाएं. मणिपुर के लोगों लिए प्रार्थना करता हूं.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *