Tue. Feb 7th, 2023

महाराष्ट्र विधानसभा में सोमवार को फ्लोर टेस्ट होगा. इसमें एकनाथ शिंदे सरकार को बहुमत साबित करना होगा. शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे (Maharashtra New CM Eknath Shinde) ने गुरुवार शाम को महाराष्ट्र के 20वें मुख्यमंत्री रूप में शपथ ली.

महाराष्ट्र में नई सरकार (Maharashtra Government) का गठन हो चुका है और एकनाथ मुख्यमंत्री की कुर्सी संभाल चुके हैं. हालांकि अभी सीएम शिंदे को विधानसभा में बहुमत साबित करना बाकी है. वहीं इसके लिए सोमवार को फ्लोर टेस्ट होगा. इसमें शिंदे सरकार को बहुमत का आंकड़ा पेश करना होगा. शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे (Maharashtra New CM Eknath Shinde) ने गुरुवार शाम को महाराष्ट्र के 20वें मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस ने उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की. उद्धव ठाकरे के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद राज्य के अगले मुख्यमंत्री फडणवीस माने जा रहे थे, लेकिन उन्होंने यह घोषणा कर सबको चौंका दिया कि शिंदे मुख्यमंत्री बनेंगे और वह सरकार का हिस्सा नहीं होंगे. हालांकि, इसके कुछ ही मिनट के बाद भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने नयी दिल्ली में कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली कैबिनेट का हिस्सा होंगे.

16 बागी विधायकों को सस्पेंड करने की मांग

वहीं दूसरी तरफ महाराष्ट्र में एकनाथ शिंदे के मुख्यमंत्री बनने के बाद उद्धव ठाकरे गुट सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से 16 बागी विधायकों को सस्पेंड करने की मांग की है. शिवसेना के व्हीप प्रमुख सुनील प्रभु ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उन 15 अन्य विधायकों के सदन से निलंबन करने की मांग करते हुए सुप्रीम कोर्ट का रुख किया. हालांकि शिंदे सरकार के लिए राहत की बात यह है कि कोर्ट ने तुरंत सुनवाई से इंकार करते हुए 11 जुलाई की तारीख दे दी है.

बालासाहेब ठाकरे का शिवसैनिक बना मुख्यमंत्री

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एवं शिवसेना के नेता एकनाथ शिंदे ने शुक्रवार को कहा कि न केवल विधानसभा में उनके साथी विधायक, बल्कि पूरा राज्य इस बात से खुश है कि बालासाहेब ठाकरे का शिवसैनिक मुख्यमंत्री बना है. शिंदे ने उन पर विश्वास दिखाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सहित अन्य नेताओं का शुक्रिया भी अदा किया. बता दें गुरुवार को मुंबई में शपथ लेने के बाद शिंदे आधी रात को ही गोवा लौट आए और वहां उनका इंतजार कर रहे अपने साथी विधायकों से मिले. वह केवल शपथ ग्रहण करने के लिए ही गुरुवार दोपहर को मुंबई गए थे. उन्होंने गोवा हवाई अड्डे पर पत्रकारों से कहा कि महाराष्ट्र उनके 50 विधायकों की वजह से ही यह दिन देख पाया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *