Tue. Feb 7th, 2023
श्रीकृष्ण जन्मभूमि और शाही ईदगाह विवाद पर टली सुनवाई, अब दो अलग-अलग तारीखों पर होगी 12 मामलों की हियरिंग

श्री कृष्ण जन्मभूमि की 13.37 एकड़ भूमि को लेकर मथुरा के जिला न्यायालय में एक दर्जन से ज्यादा याचिकाएं दायर हैं.

Image Credit source: कान्हा अग्रवाल

श्री कृष्ण जन्मभूमि और शाही ईदगाह विवाद मामले की मथुरा के जिला न्यायालय में सुनवाई शुक्रवार को टल गई. अधिवक्ता साथी का निधन होने के चलते कोर्ट की कार्यवाही को स्थगित कर दी. अब कोर्ट दो मामले में 5 जुलाई और सात मामलों में 15 जुलाई को सुनवाई होगी.

श्री कृष्ण जन्मभूमि (Shri Krishna Janmabhoomi) और शाही ईदगाह विवाद मामले की शुक्रवार को मथुरा के जिला न्यायालय में सुनवाई होनी थी, लेकिन एक वकील की मौत के कारण कोर्ट ने शोक अवकाश घोषित कर दिया गया. इसके कारण सुनवाई नहीं हो सकी. बताया जा रहा है कि आज नौ वादों और करीब 15 प्रार्थना पत्रों पर सुनवाई होनी थी, लेकिन टल गई. अब कोर्ट दो मामले में 5 जुलाई और सात मामलों में 15 जुलाई को सुनवाई होगी. दरअसल, श्री कृष्ण जन्मभूमि की 13.37 एकड़ भूमि को लेकर मथुरा के जिला न्यायालय में एक दर्जन से ज्यादा याचिकाएं दायर की जा चुकी हैं.

मई महीने में ही शाही ईदगाह मस्जिद को लेकर मथुरा न्यायालय में प्रार्थना पत्र भी दाखिल किए गए थे. जिसके बाद जून महीने में ग्रीष्मकालीन की छुट्टी होने के चलते मथुरा न्यायालय ने सभी प्रार्थना पत्र और वादों पर सुनवाई की एक जुलाई की तारीख तय की थी. न्यायालय में लगभग 9 वादों पर एक साथ सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत में सुनवाई होनी थी, लेकिन वकील के निधन के चलते टल गई.

इन वादों पर होनी थी सुनवाई

विवादित स्थल के लिए कोर्ट कमिश्नर नियुक्त कर ASI से सर्वे, शाही ईदगाह में नमाज पर रोक, शाही ईदगाह में लड्डू गोपाल के जलाभिषेक और ईदगाह को गंगाजल से पवित्र करने, शाही ईदगाह मस्जिद में मौजूद हिंदू स्थापत्य कला के सबूतों के साथ छेड़छाड़ न हो, इसके चलते 24 घंटे सीसीटीवी निगरानी, अपर मुख्य सचिव गृह से पूरे मामले की मॉनीटरिंग की हिंदू पक्ष के दावेदारों ने मांग रखी है.

ये भी पढ़ें



अधिवक्ता साथी के निधन पर टली सुनवाई

अधिवक्ता महेंद्र प्रताप सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि शुक्रवार को कोर्ट में सुनवाई होनी थी. लेकिन अधिवक्ता साथी का निधन होने के चलते कोर्ट की कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया है. 5 जुलाई को श्रीकृष्ण जन्मभूमि और शाही ईदगाह मस्जिद मामले पर अग्रिम सुनवाई न्यायालय करेगा. उन्होंने कहा कि शाही ईदगाह मस्जिद की जमीन को कमिश्नरेट की निगरानी में खुदवाया जाए और वीडियोग्राफी भी हो.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *