Mon. Jan 30th, 2023
श्रीलंका को जुलाई में मिलेगी ईंधन की दो खेप, भारी आर्थिक संकट में फंसा है देश

श्रीलंका को इस महीने ईंधन की दो खेप मिलेगी.

इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन की सहायक कंपनी लंका IOC के चेयरमैन ने कहा कि श्रीलंका को इस महीने ईंधन की दो खेप मिलेगी और एक अन्य खेप अगस्त में पहुंचेगी. आपको बता दें कि श्रीलंका अभूतपूर्व आर्थिक संकट से जूझ रहा है.

इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन की सहायक कंपनी लंका IOC के चेयरमैन ने शनिवार को कहा कि श्रीलंका (Srilanka) को इस महीने ईंधन (Fuel) की दो खेप मिलेगी और एक अन्य खेप अगस्त में पहुंचेगी. आपको बता दें कि श्रीलंका अभूतपूर्व आर्थिक संकट (Economic Crisis) से जूझ रहा है और वहां ईंधन के साथ जरूरी चीजों की भारी कमी है. श्रीलंका सरकार ने सोमवार को कहा कि आधी रात से 10 जुलाई तक सिर्फ जरूरी सेवाएं संचालित होंगी और दूसरे सभी कामों को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया जाएगा. ईंधन की पर्याप्त आपूर्ति (Supply) नहीं होने के चलते यह फैसला किया गया है.

10 अगस्त को आएगी अन्य खेप

समाचार पोर्टल इकोनॉमी नेक्स्ट ने लंका आईओसी के चेयरमैन मनोज गुप्ता के हवाले से कहा कि ईंधन (पेट्रोल और डीजल) की दो खेप 13 -14 जुलाई को और 28 से 30 जुलाई के बीच आने की उम्मीद है. उनके मुताबिक, प्रत्येक जहाज में 30,000 मीट्रिक टन ईंधन होगा.

गुप्ता ने कहा कि एक अन्य खेप 10 अगस्त को आने वाली है. उन्होंने आगे कहा कि ये सभी खेप सिंगापुर और यूएई से आएंगी.

आपको बता दें कि इससे पहले श्रीलंका के ऊर्जा मंत्री कंचन विजयशेखर ने कहा था कि भारत से ऋण-सुविधा के तहत डीजल की आखिरी खेप 16 जून को मिली थी. जबकि पेट्रोल की आखिरी खेप 22 जून को यहां पहुची थी.

श्रीलंका की भारत ने की मदद

गहरे वित्तीय संकट से जूझ रहा श्रीलंका ईंधन खरीद के लिए पूरी तरह भारत से मिलने वाली ऋण सुविधा पर निर्भर है. भारत ने उसे शुरुआत में 50 करोड़ डॉलर की ऋण सहायता दी थी और उसके बाद 20 करोड़ डॉलर की अतिरिक्त सहायता भी दी थी.

इसके अलावा भारत ने दक्षिणी देश को उर्वरकों के आयात के लिए दी गई 5.5 करोड़ अमेरिकी डालर के कर्ज की अवधि बढ़ा दी है. श्रीलंका इस वक्त अपने अब तक के सबसे भयावह आर्थिक संकट से गुजर रहा है. इसके कारण देश में खाने के सामान की कमी का जोखिम पैदा हो गया है. श्रीलंका ने देश में गहराते आर्थिक संकट के बीच यूरिया खरीदने के लिए भारत से 5.5 करोड़ डॉलर का कर्ज देने की अपील की थी. श्रीलंका की इसी अपील के मद्देनजर भारत ने उसे 5.5 करोड़ अमेरिकी डॉलर (करीब 425 करोड़ रुपये) की लाइन ऑफ क्रेडिट देने का फैसला किया है.

ये भी पढ़ें



(भाषा इनपुट के साथ)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *