Mon. Jan 30th, 2023
सितंबर तिमाही के लिए छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं, जानिये क्या रहेंगी दरें

छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं

महंगाई दर के ऊंचे स्तरों पर रहने और प्रमुख दरों में बढ़त को देखते हुए सरकार ने ये फैसला लिया है. छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों में 2020-21 की पहली तिमाही से कोई बदलाव नहीं किया गया है

सरकार ने एनएससी और पीपीएफ (PPF) और सुकन्या समृद्धि सहित छोटी बचत योजनाओं पर मौजूदा वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के लिये ब्याज दरों (interest rate) में कोई बदलाव नहीं किया है. महंगाई दर के ऊंचे स्तरों पर रहने और रिजर्व बैंक के द्वारा प्रमुख दरों में बढ़त को देखते हुए सरकार ने ये फैसला लिया है. छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों में 2020-21 की पहली तिमाही से कोई बदलाव नहीं किया गया है. फैसले के बाद सुकन्या समृद्धि योजना में 7.6 प्रतिशत का ब्याज मिलता रहेगा. जो कि छोटी बचत योजनाओं (small savings scheme) में सबसे अधिक है. वहीं पीपीएफ पर 7.1 प्रतिशत और नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट पर 6.8 प्रतिशत की दर से सालाना ब्याज मिलता रहेगा.

क्या है सरकार का फैसला

वित्त मंत्रालय ने आज एक नोटिफिकेशन में कहा कि विभिन्न छोटी बचत योजनाओं पर वित्त वर्ष 2022-23 की दूसरी तिमाही ( जुलाई 2022 से सितंबर 2022 तक) के दौरान ब्याज की दर अपरिवर्तित रहेगी. यानि दूसरी तिमाही के दौरान निवेशकों को पहली तिमाही में मिल रही दर पर ही ब्याज मिलेगा. वहीं नये निवेश पर भी पुरानी दरें ही मिलेंगी. छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों का ऐलान तिमाही आधार पर किया जाता है. दरों को स्थिर रखने का फैसला बढ़ती महंगाई और प्रमुख दरों में बढ़त के बाद लिया गया है. रिजर्व बैंक ने मई और जून के दौरान दो बार में रेपो दरें 0.9 प्रतिशत बढ़ा दी हैं. जिसके बाद कई बैंकों ने अपने एफडी की दरों में बढ़त की है. वहीं फिलहाल महंगाई दर 7 प्रतिशत से ऊपर हैं जो कि रिजर्व बैंक के द्वारा तय सीमा के भी पार है.

कितना मिलेगा ब्याज

मंत्रालय के सर्कुलर के मुताबिक पीपीएफ पर 7.10 प्रतिशत, एनएससी पर 6.8 प्रतिशत, पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम अकाउंट में 6.6 प्रतिशत ब्याज और सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम पर 7.4 प्रतिशत का ब्याज मिलेगा। 5 साल की मासिक आय स्कीम पर 6.6 प्रतिशत सालाना के हिसाब से ब्याज मिलेगा. एक साल के डिपॉजिट पर ब्याज दर 5.5 प्रतिशत जबकि 5 साल के डिपॉजिट पर 6.7 प्रतिशत का ब्याज मिलेगा. वरिष्ठ नागरिकों को 5 साल की बचत योजना में 7.4 प्रतिशत ब्याज मिलेगा. वरिष्ठ नागरिकों को तिमाही के आधार पर ब्याज मिलता है. इसके साथ ही सुकन्या समृद्धि योजना में 7.6 प्रतिशत का ब्याज दर मिलेगा. वहीं किसान विकास पत्र पर 6.9 प्रतिशत का ब्याज दिया जा रहा है. बचत योजना पर 4 प्रतिशत का ब्याज जारी रहेगा. एक से पांच साल के लिये टर्म डिपॉजिट पर 5.5 से 6.7 प्रतिशत का ब्याज मिल रहा है. 5 साल के रिकरिंग डिपॉजिट पर 5.8 प्रतिशत का ब्याज मिलेगा.

ये भी पढ़ें



एफडी से बेहतर रिटर्न

छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर तिमाही के आधार पर तय की जाती है. ब्याज में कोई बदलाव न होने पर भी स्मॉल सेविंग्स स्कीम बैंक एफडी से बेहतर रिटर्न ऑफर कर रही हैं. एसबीआई की बैंक एफडी की ब्याज दरें 2.9 प्रतिशत से 5.5 प्रतिशत के बीच हैं. बैंक वरिष्ठ नागरिकों को एफडी पर 3.4 से 6.3 प्रतिशत का ब्याज ऑफर कर रहा है. यानि दरें स्थिर रखने के बाद भी छोटी बचत योजनाओं पर रिटर्न बैंक एफडी से बेहतर है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *