Mon. Jan 30th, 2023
Ginger Price: अदरक किसानों को मिली राहत, लंबे समय बाद मिल रहा अच्छा दाम

किसानों को मिल रहा अदरक का अच्छा दाम

Image Credit source: TV9 Digital

महाराष्ट्र में किसानों को अदरक का भाव 3000 हजार रुपए से लेकर 4000 हजार रुपए प्रति क्विंटल तक मिल रहा है. किसान इस दाम से संतुष्ट हैं. उनका कहना है कि बारिश की वजह से कीमतों में बढ़ोतरी हुई है और उम्मीद करते हैं कि आगे भी ऐसे ही रेट मिलेगा.

महाराष्ट्र में एक तरफ जहां बारिश में देरी होने की वजह से किसान खरीफ की बुवाई को लेकर चिंतित हैं. वहीं अदरक उत्पादकों के लिए राहत की खबर है. इस समय राज्य में किसानों को अदरक (Ginger) का अच्छा रेट मिल रहा है. किसानों का कहना है कि प्याज की गिरती कीमतों ने रुलाया तो अब अदरक के मिल रहे अच्छे भाव ने हमें थोड़ी राहत जरूर दी है. महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा अदरक की खेती औरंगाबाद, जालना और सतारा जिलों में होती है. जालना जिले के रहने वाले किसान (Farmer) सोमनाथ पाटिल ने बताया कि पिछले साल अदरक का भाव है 600 रुपए प्रति क्विंटल मिल रहा था. पाटिल ने बताया कि अदरक के इतने कम दाम मिलने से जिले के ज्यादातर किसानों ने इसकी खेती करना बंद कर दिया था.

पाटिल बताते है कि अदरक की खेती करने में प्रति एकड़ 50 हजार से लेकर 60 हजार रुपए तक का खर्च आता है. इसके अलावा परिवहन का खर्च ही 3 हजार तक जाता है और अदरक के बीज के लिए 5,000 रुपए लग जाते हैं. ऐसे में अब अरदक का भाव अच्छा मिल रहा है तो इससे हमें राहत मिली है. पाटिल ने बताया कि बारिश में किसान अपने अदरक को बाजार तक नहीं ले जा पाते हैं और खेतों में मजदूर भी नहीं मिल पाते. ऐसे में इस समय बाजार में आवक की कमी हो जाती है और कीमत में बढ़ोतरी दर्ज होती है.

कितना मिल रहा अदरक का रेट?

महाराष्ट्र स्टेट एग्रीकल्चर बोर्ड के अधिकारियों के मुताबिक, नासिक जिले में अदरक का न्यूनतम दाम 4000 हजार रुपये प्रति क्विंटल था जबकि अधिकतम 4500 रुपए था. वहीं 28 जून को नागपुर में किसानों को न्यूनतम दाम 3000 रुपए प्रति क्विंटल और अधिकतम 3500 रुपएये रेट मिला. जालना जिले में भी 3000 रुपए प्रति क्विंटल का रेट किसानों को मिल रहा है. कमती मंडी में न्यूनतम दाम 2000 हजार रुपए प्रति क्विंटल और अधिकतम दाम 3000 रुपए चल रहा है.

ये भी पढ़ें



क्या कहना है किसानों का?

जालना जिले के किसान सोमनाथ पाटिल ने बताया कि 2 साल पहले अदरक का रेट 8 हजार रुपए प्रति क्विंटल था, लेकिन लॉकडाउन के बाद से ही दामों में गिरावट का दौर शुरू हो गया, जिससे किसानों ने इसकी खेती की ओर कम ध्यान देना शुरू कर दिया, लेकिन अदरक को रिकॉर्ड रेट मिलता देख किसान फिर से इसकी खेती कर सकते हैं. किसान उम्मीद कर रहे हैं कि अदरक के दामों में और भी बढ़ोतरी होगी. फिलहाल जिले में किसानों ने खरीफ में सोयाबीन, कपास और मक्के की बुवाई पर जोर दे रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *