Wed. Aug 17th, 2022
IIM Banglore Hospital Management Course: IIM-बैंगलोर ने लॉन्च किया हॉस्पिटल मैनेजमेंट में सर्टिफिकेट प्रोग्राम, ऑनलाइन मोड में भी होगी पढ़ाई

Iim Bangalore कैंपस

IIM Banglore Hospital Management Certificate Course: IIM-बैंगलोर ने कहा कि इस प्रोग्राम का मकसद हेल्थकेयर प्रोफेश्नल्स, मिड-लेवल मैनेजर, हेल्थकेयर कंसल्टेंट, आंत्रप्रेन्योर और व्यापार से जुड़े दिग्गजों को लाभ पहुंचाना है.

IIM Bangalore Certificate Courses: इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट-बैंगलोर ने बुधवार को 12 महीने का एक नया प्रोग्राम लॉन्च किया. इस प्रोग्राम को प्रोफेशनल सर्टिफिकेट इन हॉस्पिटल मैनेजमेंट का नाम दिया गया है. IIM-बैंगलोर (IIM-Bangalore) ने बुधवार को एक बयान में कहा, ऑनलाइन-सिंक्रोनस कार्यक्रम IIM-B फैक्लटी द्वारा ‘मैसिव ओपन ऑनलाइन कोर्सेज’ (MOOCs) और इंडस्ट्री एक्सपर्ट्स और प्रोफेश्नल्स द्वारा लाइव ऑनलाइन सेशन का एक कॉम्बिनेशन है. संस्थान ने कहा कि इस कार्यक्रम की शुरुआत नेशनल डॉक्टर्स डे के दिन की गई है.

IIM-बैंगलोर ने कहा कि इस प्रोग्राम का मकसद हेल्थकेयर प्रोफेश्नल्स, मिड-लेवल मैनेजर, हेल्थकेयर कंसल्टेंट, आंत्रप्रेन्योर और व्यापार से जुड़े दिग्गजों को लाभ पहुंचाना है. कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के सुधाकर के अनुसार, नया कोर्स प्राइवेट और सरकारी दोनों अस्पतालों में स्वास्थ्य वितरण प्रणाली को समग्र बना देगा. स्वास्थ्य मंत्री के कार्यालय द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक, ‘ये प्रोग्राम मेरे लिए किसी सपने के सच होने जैसा है.’ उन्होंने कहा, ‘जब से मैं स्वास्थ्य मंत्री बना. डिपार्टमेंट के साथ हर समीक्षा बैठक में एक स्थायी एजेंडा हुआ करता था.’

जिंदगी और मौत के बीच अंतर अच्छा या बुरा मैनेजमेंट: स्वास्थ्य मंत्री

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, ‘हमारे एजेंडे में ये होता था कि डॉक्टरों को एडमिनिस्ट्रेशन और मैनेजमेंट में कैसे ट्रेंड किया जाए. ऐसा इसलिए है क्योंकि मेडिकल प्रोफेशन में जिंदगी और मौत के बीच अंतर अच्छा या बुरा मैनेजमेंट होता है.’ मंत्री ने कहा कि वह चाहते हैं कि प्रशासनिक स्तर के अधिकारी जैसे जिला स्वास्थ्य अधिकारी, मेडिकल कॉलेज डीन, डिस्ट्रिक्ट सर्जन, स्टेट प्रोग्राम अधिकारी और संयुक्त निदेशक मैनेजमेंट में ट्रेंड हों. स्वास्थ्य मंत्री का मानना है कि अगर ऐसा होता है तो लोगों को बेहतर गुणवत्ता वाली स्वास्थ्य सेवा मिलेगी.

ये भी पढ़ें



उन्होंने कहा कि अधिकांश अस्पताल अधिकारी अपने क्षेत्र के एक्सपर्ट्स हैं. लेकिन वे मैनेजमेंट के प्रिंसिपल को नहीं जानते हैं, जो कामकाज की दक्षता को कम करता है और संसाधनों का बेहतर उपयोग नहीं करता है. IIM-बैंगलोर अक्सर ही इस तरह के सर्टिफिकेट प्रोग्राम की शुरुआत करता रहता है. हाल ही में यहां पर महिलाओं को आंत्रप्रेन्योर बनाने के लिए एक ट्रेनिंग प्रोग्राम लेकर आया. इसके लिए ग्रेजुएट महिलाएं अप्लाई कर सकती हैं. आवेदन प्रक्रिया शुरू है. ऑफिशियल वेबसाइट sw.kar.nic.in पर जाकर रजिस्ट्रेशनकिया जा सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.