Mon. Jan 30th, 2023
IND vs ENG: बर्मिंघम में Rishabh Pant का जबरदस्त काउंटर अटैक, ताबड़तोड़ फिफ्टी जड़कर टीम को उबारा

ऋषभ पंत ने रवींद्र जडेजा के साथ मिलकर दूसरे सेशन में भारतीय पारी को संभाला.

Image Credit source: PTI

बर्मिंघम टेस्ट (Birmingham Test) के पहले ही दिन इंग्लैंड के गेंदबाजों ने भारतीय बैटिंग के टॉप ऑर्डर को तहस-नहस कर दिया और टीम इंडिया ने सिर्फ 98 रन पर ही 5 विकेट गंवा दिए थे.

इंग्लैंड के खिलाफ बर्मिंघम टेस्ट (Birmingham Test) के पहले ही दिन भारतीय क्रिकेट टीम की हालत खराब हो गई और टीम के धुरंधर बल्लेबाज सस्ते में निपट गए. पूर्व कप्तान विराट कोहली समेत टॉप ऑर्डर इंग्लैंड के पेस अटैक के सामने तहस-नहस हो गया. खस्ता हाल टीम को संभाला युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत (Rishabh Pant) ने. बाएं हाथ के भारतीय बल्लेबाज ने न सिर्फ पारी को उबारा बल्कि तेजी से बल्लेबाजी करते हुए एक बेहतरीन अर्धशतक भी जमा दिया. पंत ने रवींद्र जडेजा के साथ मिलकर दूसरे सेशन में एक जबरदस्त साझेदारी कर मुश्किल में फंसी भारतीय टीम को बेहतर स्थिति में पहुंचाया.

बर्मिंघम में शुक्रवार 1 जुलाई से भारत और इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचों की पिछले साल शुरू हुई टेस्ट सीरीज का आखिरी टेस्ट शुरू हुआ और पहले दो घंटों के खेल में ही भारतीय टीम की हालत खराब हो गई. पहला सेशन बारिश के कारण पूरा नहीं हो सका था और टीम ने दोनों ओपनर, शुभमन गिल और चेतेश्वर पुजारा के विकेट गंवा दिए थे. फिर दूसरे सेशन के शुरुआती 40-45 मिनट में हनुमा विहारी, विराट कोहली और श्रेयस अय्यर भी वापस लौट गए.

ताबड़तोड़ बैटिंग से जमाई फिफ्टी

मैच के पहले ही दिन सिर्फ 98 रन पर 5 विकेट गंवाने वाली भारतीय टीम को एक अच्छी पारी और अच्छी साझेदारी की जरूरत थी. इन दोनों की बुनियाद तैयार की ऋषभ पंत ने. इंग्लैंड के खिलाफ अपने छोटे से टेस्ट करियर में कुछ अच्छी पारियां खेल चुके पंत ने एक बार फिर अपना कमाल दिखाया. पंत ने जबरदस्त काउंटर अटैक पारी शुरू की और इंग्लैंड के गेंदबाजों को निशाने पर लिया.

भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ने टी-ब्रेक से ठीक पहले एक चौका जमाकर सिर्फ 51 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा कर दिया जो पंत के 31वें टेस्ट में 10वां अर्धशतक था. पंत का इंग्लैंड के खिलाफ ये चौथा अर्धशतक है, जबकि दो शतक भी उन्होंने जमाए हैं.

ये भी पढ़ें



जडेजा ने भी दिया अच्छा साथ

ऋषभ पंत का बखूब साथ दिया धाकड़ ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा ने. अपनी आक्रामक बल्लेबाजी के लिए मशहूर जडेजा ने पंत के बिल्कुल उलट एकदम धैर्य के साथ बल्लेबाजी की और एक छोर से खूंटा गाड़ कर खड़े रहे. उन्होंने भी बीच-बीच में कुछ बेहतरीन शॉट्स लगाकर बाउंड्री हासिल की और टीम को बेहतर स्थिति में पहुंचाया. दोनों ने मिलकर टीम को टी-ब्रेक तक 174 के स्कोर तक पहुंचाया और 76 रनों की नाबाद साझेदारी कर वापस लौटे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *