Tue. Feb 7th, 2023
Maharashtra: 'शिंदे और फडणवीस की दो चक्कों की स्कूटर सरकार, हैंडल पीछे बैठे शख्स के हाथ', पवार की पार्टी NCP लेने लगी फिरकी

एकनाथ शिंदे देवेंद्र फडणवीस (फाइल फोटो)

एनसीपी के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटील ने कहा है कि शिंदे-फडणवीस की सरकार एक अवसरवादी सरकार है जो 2024 तक नहीं टिकेगी. उससे पहले ही राज्य में मध्यावधि चुनाव करवाने की नौबत आ जाएगी.

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह जब महाराष्ट्र के सिंधुदुर्ग में केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन करने आए थे तब उन्होंने महा विकास आघाड़ी की सरकार को तीन पहियों वाला टेम्पो बताया था. उन्होंने कहा था कि इस तीन चक्कों वाली आघाड़ी की गाड़ी में तीनों चक्के तीन अलग-अलग दिशाओं में जा रहे हैं. अब जब शिवसेना को तोड़ कर एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बने हैं और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस उप मुख्यमंत्री बनाए गए हैं तो शरद पवार की पार्टी राष्ट्रवादी काग्रेस (NCP) ने इसपर फिरकी ली है. एनसीपी के मुख्य प्रवक्ता महेश तापसे ने शुक्रवार को एनसीपी की प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि महाराष्ट्र में बनी शिंदे-फडणवीस (Devendra Fadnavis BJP) की दो पहिए वाली स्कूटर सरकार है. इसमें स्कूटर का हैंडल पिछली सीट में बैठने वाले शख्स के हाथ है.

इसके अलावा एनसीपी के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटील ने भी कुछ इसी तरह का बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि शिंदे-फडणवीस की सरकार एक अवसरवादी सरकार है जो 2024 तक नहीं टिकेगी. उससे पहले ही राज्य में मध्याविधि चुनाव करवाने की नौबत आ जाएगी. वे शुक्रवार को मीडिया से संवाद कर रहे थे. जयंत पाटील ने कहा कि सत्ता पाने के लिए जो तरीके अपनाए गए, उसे जनता समझ रही थी और इस वजह से जनता काफी नाराज थी. यही नाराजगी दूर करने के लिए बीजेपी की ओर से यह दिखाने की कोशिश की गई है कि ये सब सत्ता के लिए नहीं हो रहा था.

शिवसेना के बागी कहें कुछ भी, उद्धव ठाकरे की शिवसेना ही है असली

एनसीपी प्रवक्ता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह भी कहा कि शिवसेना के बागी नेता कुछ भी कहें, सच्चाई तो यही है कि असली शिवसेना वही है जो उद्धव ठाकरे के साथ खड़ी है. बागियों को मातोश्री जाकर उद्धव ठाकरे से माफी मांगनी चाहिए.

‘इनकम टैक्स और ईडी लगाकर साजिश रचती है बीजेपी’

इस बीच एनसीपी प्रमुख शरद पवार को इनकम टैक्स विभाग का नोटिस मिला है. एक तरफ महा विकास आघाड़ी की सरकार गिराई जा रही थी तो दूसकी तरफ सरकार के संकट में रहते हुए भी शिवसेना सांसद संजय राउत और अनिल परब को ईडी का नोटिस आया और मैराथन पूछताछ शुरू हुई तो दूसरी तरफ शरद पवार को भी इनकम टैक्स विभाग का नोटिस भेजा गया. यानी संजोग देख कर साजिश रची जा रही है. यह एनसीपी प्रवक्ता महेश तापसे ने कहा.

ये भी पढ़ें



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *