Mon. Jan 30th, 2023
Muzaffarpur Flood: मुजफ्फरपुर में बाढ़ का कहर, बागमती नदी के उफान से बेघर हो गए दर्जनों लोग, किसानों की लहलहाती फसल बर्बाद

बिहार के मुजफ्फरपुर में एक बार फिर से बाढ़ का कहर देखने को मिल रहा है.

Image Credit source: (फाइल फोटो)

कटरा प्रखंड के बकुची में भी पानी (Muzaffarnagar Flood) घुसने से ग्रामीणों को काफी परेशानी हो रही है. पीपा पुल के एप्रोच पथ पर पानी की वजह से आवागमन की समस्या से जूझना पड़ रहा है.

बिहार (Bihar) के मुजफ्फरपुर में एक बार फिर से बाढ़ का कहर देखने को मिल रहा है. जिले के तीन प्रखंड औराई, कटरा और मीनापुर में हर तरफ तबाही का आलम है. इलाके से बहने वाली बागमती नदी उफान पर है. नेपाल की तराई में हो रही लगातार बारिश से इस नदी के जलस्तर (Muzaffarpur Flood) में लगातार बढोतरी हो रही है. दर्जनों गांवों में घरों में पानी घुस जाने से लोग बांध की ओर पलायन करने को मजबूर हैं. वहीं दूसरी ओर सड़कों पर पानी ही पानी नजर आ रहा है. हालात इस कदर खराब हो गए हैं कि गांव का कनेक्शन मुख्यालय से कट गया है.

औराई में बागमती का पानी करीब एक दर्जन गांवों में घुस गया है. इन गांवों में करीब पांच दर्जन घरों में पानी भर गया है. बांध के अंदर की सड़कें और पगडंडी भी जलमग्न हो गए हैं. इस वजह से आवाजाही पूरी तरह से ठप हो गई है. घरों में पानी घुसने के बाद लोग बांध पर शरण लेने को मजबूर हैं. दूसरी तरफ लखनदेई की तरफ भी पानी तेजी से बढ़ रहा है. कटौझा में बागमती नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. जलस्तर बढ़ने से बागमती तटबंध के अंदर विस्थापित बभनगामा पश्चिमी, हरनी, चैनपुर, राघोपुर, तरवन्ना, बाड़ा बुजुर्ग, बाड़ा खुर्द, राघोपुर, चहुंटा कश्मीरी टोला समेत एक दर्जन गांवों में बाढ़ का पानी तेजी से फैल रहा है.

20 से 25 घरों में घुसा बाढ़ का पानी

दोनों उपधाराओं के साथ अब मुख्य धारा में भी तेज बहाव देखा जा रहा है.बभनगावां पश्चिमी में 20 से 25 घरों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर चुका है. चैनपुर में निचले इलाके में करीब 30 से 35 घरों में बाढ़ का पानी कहर बरपा रहा है. कटरा प्रखंड के बकुची में भी पानी घुसने से ग्रामीणों को काफी परेशानी हो रही है. पीपा पुल के एप्रोच पथ पर पानी की वजह से आवागमन की समस्या से जूझना पड़ रहा है. राहगीर किसी तरह से पैदल ही पुल को पार कर रहे हैं.लोग जान जोखिम में डालकर चचरी पुल के सहारे आने-जाने को मजबूर हैं. उधर किसान भी बाढ़ की वजह से काफी चिंतित हैं. खेतों में पानी घुसने से साग-सब्जी की अधिकतर खेती बर्बाद हो चुकी है. बसघटृा डायवर्सन और माधोपुर मार्ग में पानी भर जाने से आवागमन बाधित हो गया है.

ये भी पढ़ें



नदी के बढ़ते जलस्तर से ग्रामीणों में दहशत

तेहवारा मार्ग में नाव चल रही है.वहीं डुमरी-पहसौल मार्ग पर पानी चढ़ने का खतरा मंडराने लगा है. गायघाट में बागमती,लखनदेई नदी के जलस्तर में बढोतरी लगातार जारी है. नदी के बढ़ते जलस्तर को देखकर ग्रामीण दहशत में हैं. एसडीओ पूर्वी ज्ञान प्रकाश ने बताया कि नदियों में बढ़ते जल स्तर को लेकर प्रशासन अलर्ट मोड पर है. और पल-पल की स्थिति पर जिला प्रशासन नजर बनाए हुए है. सभी अंचलाधिकारी और प्रखंड विकास पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए जा चुके है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *