Wed. Feb 8th, 2023
Nupur Sharma remark: नूपुर शर्मा की टिप्पणी को लेकर बीजेपी-कांग्रेस का जमकर हंगामा, कई बार स्थगित हुई ओडिशा विधानसभा की कार्यवाही

नूपुर शर्मा की टिप्पणी को लेकर ओडिशा विधानसभा में जमकर हंगामा

Image Credit source: Twitter

पैगंबर मोहम्मद पर Nupur Sharma की कथित विवादास्पद टिप्पणी को लेकर विपक्षी दलों कांग्रेस और BJP के हंगामे के चलते ओडिशा विधानसभा की कार्यवाही शनिवार को कई बार स्थगित की गई.

पैगंबर मोहम्मद पर नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) की कथित विवादास्पद टिप्पणी को लेकर विपक्षी दलों कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के हंगामे के चलते ओडिशा विधानसभा की कार्यवाही शनिवार को कई बार स्थगित की गई. कांग्रेस विधायक दल के नेता नरसिंह मिश्रा ने प्रश्नकाल के दौरान यह मुद्दा उठाया और शर्मा के बयान पर मुख्यमंत्री नवीन पटनायक (Naveen Patnaik) का विचार जानना चाहा. उन्होंने कहा, ‘नूपुर शर्मा भाजपा की प्रवक्ता या एजेंट थीं. कल सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें फटकार लगाई और परोक्ष रूप से इस राजनीतिक दल की आलोचना भी की.’

उन्होंने कहा कि इसके लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए एवं पार्टी अपनी जिम्मेदारी से नहीं बच सकती है. मिश्रा के बयान से भाजपा के सदस्य नाराज हो गए और अपनी सीट के निकट खड़े होकर कांग्रेस पर आरोप लगाने लगे. सदन में भाजपा के उपनेता बीसी सेठी ने कहा कि हाल में राजस्थान में दर्जी की हत्या हुई है, और वहां कांग्रेस सत्तारूढ़ हैं.

बीजेपी ने कश्मीरी पंडितों के पलायन के मुद्दे को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना

उदयुपर की घटना का हवाला देते हुए उन्होंने कहा, ‘क्या उस राज्य के मुख्यमंत्री ने इस घटना के बाद इस्तीफा दिया? नुपुर शर्मा ओडिशा विधानसभा की सदस्य नहीं हैं. तो उनकी टिप्पणी पर बहस क्यों होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि इसके अलावा, भाजपा ने उन्हें निलंबित भी कर दिया है एवं उन्होंने अपने बयान के लिए माफी भी मांग ली है. सेठी ने कश्मीर से कश्मीरी पंडितों के पलायन के मुद्दे पर भी कांग्रेस पर निशाना साधा. सदन में नारेबाजी जारी रहने के बीच दोनों विपक्षी दलों के सदस्य एक-दूसरे पर कार्रवाई की मांग करते हुए आसन के समीप आ गए.

ये भी पढ़ें



कांग्रेस के विरोध के बाद विधानसभा अध्यक्ष ने स्थगित की सदन की कार्यवाही

विधानसभा अध्यक्ष बीके अरूख ने कहा कि सदन उस व्यक्ति पर चर्चा नहीं कर सकता है जो इस उसका सदस्य नहीं है एवं यहां मौजूद नहीं है. पिछले ही महीने अरूख विधानसभा अध्यक्ष निर्वाचित हुए थे. अध्यक्ष के बयान पर कांग्रेस विधायकों ने आपत्ति जताई और उन्होंने अपना विरोध तेज कर दिया. इसके बाद अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही को दो बार 10-10 मिनट के लिए और बाद में शाम चार बजे तक के लिए स्थगित कर दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *