Tue. Feb 7th, 2023
PMFBY: धान, अरहर, मूंग, मक्का और बागवानी फसलों का 15 जुलाई तक बीमा करवा लें किसान

किसानों के लिए बहुत काम की है फसल बीमा योजना.

Image Credit source: File Photo

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana: छत्तीसगढ़ के कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने किसानों को जागरूक करने के लिए रवाना किया फसल बीमा रथ. कहा-वर्ष 2021-22 में राज्य के 5 लाख 66 हजार किसानों को 1063 करोड़ की बीमा दावा राशि का भुगतान मिला.

छत्तीसगढ़ के कृषि एवं जल संसाधन मंत्री रविंद्र चौबे ने प्रदेश व्यापी फसल बीमा जागरूकता सप्ताह की शुरुआत की. रायपुर स्थित अपने निवास कार्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में कृषि मंत्री चौबे ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana) के प्रचार-प्रसार के लिए जागरूकता रथों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. इन रथों के जरिए ग्रामीण अंचल में 15 जुलाई तक भ्रमण कर किसानों को फसल बीमा के प्रावधानों की जानकारी दी जाएगी. उन्हें इस योजना का हिस्सा बनने के लिए प्रेरित भी किया जाएगा. उन्होंने दावा किया कि छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य है, जिसने अपने किसानों को सबसे पहले रबी सीजन 2021-22 की फसल बीमा (Crop Insurance) दावा राशि का भुगतान किया है.

देश की आजादी की 75 वीं वर्षगांठ अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में फसल बीमा सप्ताह के तहत आज राज्य के सभी जिला मुख्यालयों से भी प्रचार-प्रसार रथ रवाना किए गए. जो 15 जुलाई तक पूरे राज्य में भ्रमण कर किसानों को फसल बीमा कराने के लिए जागरूक करेंगे. प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत किसान धान सिंचित एवं असिंचित, अरहर, मूंग, उड़द, मक्का एवं बागवानी फसलों का बीमा 15 जुलाई तक करा सकेंगे.

कृषि और किसानों को प्राथमिकता

कृषि मंत्री चौबे ने इस अवसर पर कहा कि राज्य में खेती-किसानी को समृद्ध और किसानों को खुशहाल बनाना छत्तीसगढ़ सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार किसानों के लिए काम कर रही है. छत्तीसगढ़ की पहचान कृषि मॉडल राज्य के रूप में होने लगी है. चौबे ने कहा कि किसानों को मदद पहुंचाने और उन्हें उनका हक दिलाने के मामले में छत्तीसगढ़ देश का अग्रणी राज्य है.

कितना प्रीमियम दिया और कितना क्लेम मिला

चौबे ने कहा कि वर्ष 2021-22 में राज्य के 5 लाख 66 हजार किसानों को 1063 करोड़ की बीमा दावा राशि का भुगतान मिला है. खरीफ सीजन शुरू होने से पहले ही हमने डेढ़ लाख से ज्यादा किसानों को उनके द्वारा दी गई प्रीमियम राशि मात्र 15 करोड़ 96 लाख रुपए के एवज में 304 करोड़ 38 लाख रुपए के क्लेम राशि का भुगतान किया है. खरीफ सीजन 2021 में राज्य के 4 लाख से अधिक किसानों द्वारा दी गई किसान प्रीमियम राशि 157 करोड़ 65 लाख रुपए के एवज में 758 करोड़ 43 लाख रुपए का भुगतान किया गया है.

ये भी पढ़ें



कितना लगता है प्रीमियम

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसानों को फसल बीमा प्रीमियम की मात्र डेढ़ प्रतिशत राशि अदा करनी होती है. जबकि मौसम आधारित बागवानी फसलों के बीमा प्रीमियम राशि में किसानों को मात्र 5 प्रतिशत अंशदान करना होता है. शेष प्रीमियम राशि का भुगतान शासन द्वारा किया जाता है. फसल बीमा जागरूकता रथ रवाना करने के कार्यक्रम में कृषि संचालक यशवंत कुमार, बागवानी संचालक माथेश्वरन वी एवं फसल बीमा के संयुक्त संचालक बीके मिश्रा आदि मौजूद रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *