Wed. Feb 8th, 2023
STF हत्याकांड: 15 साल बाद आया फैसला, 'ठोकिया गैंग' के 13 दोषियों को मिली उम्रकैद की सजा

कोर्ट ने सुनाया फैसला.

चित्रकूट के दुर्दांत अम्बिका प्रसाद उर्फ ठोकिया ने 15 साल पहले STF जवानों और एक मुखबीर की घात लगाकर सामूहिक रूप से हत्या कर दी थी. जिसमे अन्य कई STF के जवान मुखबिर भी घायल हुए थे.

यूपी के बांदा में 15 साल पहले ठोकिया गैंग के द्वारा STF जवानों के हत्याकांड (STF Murder Case) मामले में गुरुवार को फैसला सुनाया गया. यह मामला बांदा के एक विशेष न्यायाल में 15 सालों से चल रहा था. ठोकिया गिरोह के 13 डकैतों को उम्रकैद की सजा सुनाई गई (Thokia Gang). सभी पर 25-25 हजार रुपये का जुर्माना भी लगा. चित्रकूट के दुर्दांत अम्बिका प्रसाद उर्फ ठोकिया ने 15 साल पहले 6 STF जवानों और एक मुखबीर की घात लगाकर सामूहिक रूप से हत्या कर दी थी. जिसमें अन्य कई STF के जवान और मुखबिर भी घायल हुए थे. गुरुवार 30 जून को इस मामले में फैसला सुनाया गया. इस हत्याकांड में 16 डकैतो को नामजद किया गया था, जिसमे 3 की मौत हो चुकी है. बाकी 13 को अब सजा सुनाई गई है.

21 जुलाई 2007 को STF ने डाकू ददुआ को मुठभेड़ में मार गिराया था. उसके बाद अगले दिन STF जवान जंगल में काम्बिंग कर रहे थे, तभी बांदा के फतेहगंज थाना क्षेत्र के बघोलन तिराहे के पास अम्बिका पटेल उर्फ ठोकिया ने अपने साथियों के साथ 22 जुलाई 2007 की रात घात लगाकर STF टीम पर हमला कर दिया था. डकैतों की ताबड़तोड़ फायरिंग से गोली लगने से 6 जवान और एक मुखबिर की मौत हो गयी थी. इस घटना में 9 STF जवान और एक मुखबिर घायल हो गए थे. यह मामला बांदा की विशेष अदालत में 15 वर्षो से चल रहा था.

पुलिस ने 16 डकैतों को किया था नामजद

इस मामले का तेजी से निस्तारण करने के लिए हाई कोर्ट व सुप्रीम कोर्ट द्वारा निर्देश भी जारी किए गए थे. जिसके बाद से इस पूरे प्रकरण की सुनवाई बांदा की अदालत में लगातार चल रही थी. इस पूरे मामले में 16 डकैतों को पुलिस ने नामजद किया था. जिसमें 3 की मौत हो चुकी है. बाकी 13 आरोपियों में 12 चित्रकूट व एक हमीरपुर की जेल में बंद थे.

इस बारे में अभियोजन पक्ष के अधिवक्ता राम कुमार सिंह ने बताया कि विशेष न्यायाधीश (दस्यु प्रभावित क्षेत्र) नूपुर ने इस मामले में सभी अभियुक्तों को दोषी पाते हुए बराबर सजा दी है. जिन अभियुक्तों को सजा दी गई है उनमें धर्मेंद्र प्रताप सिंह उर्फ नरेंद्र उर्फ धर्मेंद्र भदोरिया उर्फ भैया उर्फ धर्मेंद्र सिंह, रामबाबू पटेल, किशोरी पटेल ,कल्याण सिंह पटेल, धनीराम शिव नरेश पटेल, नत्थू पटेल, अशोक पटेल उर्फ अंग्रेज पटेल, चुनूबाद पटेल, देव शरण पटेल, ज्ञान सिंह शंकर सिंह पटेल तथा राम प्रसाद विश्वकर्मा शामिल है.

अपडेट जारी है…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *