Mon. Jan 30th, 2023
Team India से टकराएगा 34 साल का पेसर, 27 की उम्र में शुरू हुआ करियर, फिशिंग शॉप से लेकर माली तक का कर चुका काम

रिचर्स ग्लीसन ने 64 टी2द मैचों में 70 विकेट अपने नाम किए हैं.

Image Credit source: Twitter/Lancashire

ऑयन मॉर्गन के संन्यास के बाद वनडे और टी20 में इंग्लैंड (England Cricket Team) के नए दौर की शुरुआत हो रही है और जॉस बटलर की कप्तानी वाली टीम में लैंकाशर का ये पेसर डेब्यू कर सकता है.

भारत और इंग्लैंड (India vs England) के बीच बर्मिंघम में पांचवां टेस्ट मैच खेला जा रहा है. ये मैच शुक्रवार 1 जुलाई को ही शुरू हुआ. इस टेस्ट के बाद तुरंत ही टी20 सीरीज शुरू होगी, जिसमें दोनों टीमें तीन बार टकराएंगी. टेस्ट मैच के पहले ही दिन इंग्लैंड ने इस टी20 सीरीज के लिए अपनी टीम का ऐलान भी कर दिया. इस सीरीज के लिए टीम में कुछ बदलाव हैं, जिसमें कप्तानी में जॉस बटलर का आना सबसे अहम है, लेकिन इंग्लिश टीम के ऐलान में सबसे ज्यादा ध्यान खींचा है रिचर्ड ग्लीसन (Richard Gleeson) ने. एक ऐसा मीडियम पेसर, जिसने सीनियर लेवल पर क्रिकेट की शुरुआत ही 27 साल की उम्र में की और अब इंग्लैंड के घरेलू सर्किट में काफी प्रभावित कर चुका है.

दाएं हाथ के तेज गेंदबाज रिचर्ड ग्लीसन इंग्लैंड के काउंटी क्लब लैंकाशर की ओर से खेलते हैं और इस टीम की ओर से उन्होंने हाल ही में टी20 ब्लास्ट टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्श किया, जिसने इंग्लैंड क्रिकेट मैनेजमेंट को उन्हें चुनने पर मजबूर कर दिया. हालांकि, यहां तक पहुंचने का ग्लीसन का सफर भी आसान नहीं था क्योंकि उन्हें सीनियर क्रिकेट खेलने का मौका ही तब मिला, जब उनकी उम्र 27 साल की हो चुकी थी.

कई तरह की नौकरियों के बाद खुली किस्मत

ग्लीसन ने माइर काउंटी में लंबा वक्त बिताने के बाद 2015 में 27 साल की उम्र में अपना फर्स्ट क्लास डेब्यू किया था. उस वक्त वह छोटे टूूर्नामेंटों में खेलने के साथ ही लैंकाशर के लिए क्रिकेट डेवलपमेंट ऑफिसर के रूप में काम करते हुए बच्चों को क्रिकेट कोचिंग भी दे रहे थे. हालांकि, यहां तक पहुंचने से पहले भी उन्होंने कई तरह के काम किए. कभी एक बॉयलर बनाने वाली कंपनी में काम किया, तो कभी मछली मारने का उपकरण बेचने की दुकान में और कभी माली की नौकरी. फिर कोचिंग की जॉब ने कुछ दिशा दी. आखिर में उन्होंने नॉर्थंप्टनशर के साथ 3 साल के करार के साथ अपना करियर शुरू किया और फिर 2018 में उनकी लैंकाशर में वापसी हुई. इसके बाद से ही वह इस क्लब के साथ हैं, जिसकी एकेडमी से खुद उन्होंने अपने क्रिकेट का क, ख, ग सीखा था.

कैसा है करियर, क्या है खासियत?

लंबे कद के ग्लीसन को उनकी कसी हुई लाइन और सटीक यॉर्कर के लिए जाना जाता है. उन्होंने अपने पहले ही सीजन में नॉर्थंप्टनशर को टी20 ब्लास्ट का खिताब जिताने में अहम भूमिका निभाई थी. वह मौजूदा सीजन में टी20 ब्लास्ट के सबसे सफल गेंदबाजों में से हैं. लैंकाशर की ओर से खेलते हुए ग्लीसन ने इस सीजन के हर मैच में विकेट लिए हैं. उनके नाम अभी तक 13 मैचों में 16 की औसत के साथ 21 विकेट हैं और सफल गेंदबाजों की लिस्ट में दूसरे नंबर पर हैं. अपने छोटे से करियर में ग्लीसन ने 64 टी20 मैचों में 70 विकेट हासिल किए हैं, जबकि 34 फर्स्ट क्लास मैचों में 38 की जबरदस्त स्ट्राइक रेट के साथ 143 विकेट निकाल चुके हैं.

ये भी पढ़ें



7 जुलाई से शुरू होने वाली टी20 सीरीज के लिए 34 साल के ग्लीसन को जगह दी गई. उनके अलावा टीम में क्रिस जॉर्डन, टिमाल मिल्स, रीस टॉप्ली और डेविड विली जैसी गेंदबाज भी हैं. ऐसा माना जा रहा है कि उन्हें सीरीज के पहले ही मैच में इंटरनेशनल डेब्यू का मौका मिल सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *